नाग पंचमी से लेकर गणेश चतुर्थी तक ये हैं अगस्त के प्रमुख व्रत एवं त्योहार

अगस्त के महीने के शुरुआत में नाग पंचमी रहेगी तो आखिर के दिन गणेश चतुर्थी रहेगी. इस माह में और कौन से प्रमुख व्रत और त्योहार हैं इसकी पूरी लिस्ट आप नीचे देख सकते हैं. 

अगस्त महीने को यदि व्रत और त्योहार का महीना कहा जाए तो काफी अच्छा होगा क्योंकि अगस्त के महीने में काफी सारे व्रत एवं त्योहार आने वाले हैं. अधिकतर त्योहार हिन्दू धर्म से जुड़े हैं. देखा जाए तो करीब आधा सावन का महीना भी अगस्त के महीने में ही है.

अगस्त के महीने के शुरुआत में नाग पंचमी रहेगी तो आखिर के दिन गणेश चतुर्थी रहेगी. इस माह में और कौन से प्रमुख व्रत और त्योहार हैं इसकी पूरी लिस्ट आप नीचे देख सकते हैं. 

नाग पंचमी : 2 अगस्त, मंगलवार

इस महीने की शुरुआत नाग पंचमी जैसे पावन त्योहार से हो रही है. नाग पंचमी 2 अगस्त, मंगलवार को या रही है. ये हिंदुओं के लिए एक खास त्योहार है. इस दिन पूरे भारत में नाग देवता की पूजा की जाती है. लोग उनकी पूजा करते हैं और जल चढ़ाते हैं. कई जगह पर इस दिन मेले का आयोजन भी किया जाता है.  

तुलसीदास जयंती  : 4 अगस्त, गुरुवार

भगवान श्रीराम के भक्त तुलसीदास जिन्होंने रामचरित मानस लिखी है उनका जन्मदिन हर साल श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की सप्तमी को रहता है. इस बार ये 4 अगस्त गुरुवार को है. इस दिन देश में बड़ी धूमधाम से तुलसीदास जी का जन्मदिन मनाया जाता है.  लोग उनकी याद में कई जगह पर भगवान राम के भजन करवाते हैं और रामचरित मानस का पाठ करते हैं.  

श्री दुर्गाष्टमी व्रत : 5 अगस्त, शुक्रवार

हर माह की तरह ही इस माह में भी दुर्गाअष्टमी है. ये इस माह में 5 अगस्त शुक्रवार को है. इस दिन मां दुर्गा की विशेष पूजा अर्चना की जाती है. मां दुर्गा की विशेष कृपा मिलती है इस दिन पूजा करने से. 

श्रावण पुत्रदा एकादशी : 8 अगस्त, सोमवार

हर माह में दो एकादशी होती है. इस बार श्रावण माह की दूसरी एकादशी 8 अगस्त सोमवार को है. इसे पुत्रदा एकादशी कहा जाता है. ये भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के लिए की जाती है. इस दिन आप व्रत कर सकते हैं और भगवान विष्णु की पूजा भी कर सकते हैं. 

प्रदोष व्रत : 9 अगस्त, मंगलवार

इस महीने प्रदोष व्रत 9 अगस्त मंगलवार को रहेगा.  ये भगवान शिव को समर्पित होता है. इस दिन भगवान भोलेनाथ की की पूजा करने चाहिए. काफी सारे भक्त इस दिन उपवास भी रकते हैं. 

रक्षाबंधन, श्रावण पूर्णिमा,अवनि अविट्टम ​​और गायत्री जयंती : 11 अगस्त, गुरुवार

रक्षाबंधन का पावन त्योहार इस बार 11 अगस्त, गुरुवार को है जो हिन्दू धर्म का एक महत्वपूर्ण त्योहार है. इसके अलावा इस दिन सावन पूर्णिमा और गायत्री जयंती भी है. 

वरलक्ष्मी व्रत : 12 अगस्त, शुक्रवार

मां लक्ष्मी की कृपा पाने के लिए आप 12 अगस्त को वरलक्ष्मी व्रत कर सकते हैं. मां लक्ष्मी से अपनी और अपने परिवार की बरकत के लिए कामना कर सकते हैं. 

कजरी तीज : 14 अगस्त, रविवार 

मनचाहा वर पाने के लिए अविवाहित लड़कियां कजली कजरी तीज का व्रत करती हैं. ये इस महीने में 14 अगस्त को है. इस दिन भगवान शिव और मां पार्वती की विशेष पूजा की जाती है.  

संकष्टी चतुर्थी : 15 अगस्त, सोमवार

भाद्रपद कृष्ण पक्ष के महीने में आने वाले संकष्टि चतुर्थी को हरम्बा संकष्टी चतुर्थी कहा जाता है. ये इस बार 15 अगस्त को है. इस दिन गणेशजी की विशेष पूजा की जाती है.  धार्मिक मान्यतों के अनुसार इस व्रत को करने से भगवान श्रीगणेश आपके सभी दुखों को हर लेते हैं. वे आपके जीवन के सभी कष्टों को दूर कर देते हैं. 

जन्माष्टमी : 18 और 19 अगस्त, गुरुवार और शुक्रवार

भगवान श्री कृष्ण के जन्म दिवस को जन्माष्टमी के रुप में मनाया जाता है. ये इस बार 18 और 19 अगस्त को या रही है. इस दिन बड़ी धूमधाम से भगवान श्रीकृष्ण का जन्म दिन मनाया जाता है. लोग उनके जन्मदिन के अवसर पर उपवास करते हैं और उनकी विशेष पूजा करते हैं. 

अजा एकादशी : 23 अगस्त, मंगलवार

भाद्रपद मास की पहली एकादशी अजा एकादशी कही जाती है. इस दिन भगवान विष्णु की पूजा की जाती है तथा व्रत रखा जाता है. अजा एकादशी 23 अगस्त मंगलवार को है. 

हरतालिका तीज व्रत : 30 अगस्त, मंगलवार

हरतालिक तीज का व्रत सुहागिन महिलाएं और कुंवारी कन्या दोनों करती हैं. इस दिन मां पार्वती और भगवान शिव की पूजा की जाती है. महिलाएं इस दिन अपने पति की लंबी आयु की कामना करती हैं. इस बार हार्टलिक तीज 30 अगस्त मंगलवार को है. 

गणेश चतुर्थी व्रत: 31 अगस्त, बुधवार 

इस महीने का आखिरी व्रत और त्योहार गणेश चतुर्थी व्रत है. इसे श्रीगणेश के जन्मदिन के रुप में मनाया जाता है. ये 31 अगस्त बुधवार को है. इस दिन से ही गणेश जी बैठाए जाएंगे और अनंत चतुर्दशी के दिन इन्हें विदा किया जाएगा.  

error: Content is protected !!