ब्रेस्ट का आकार बढ़ाने के आसान तरीके, छाती बढ़ाने के उपाय

ब्रेस्ट साइज़ कम होने की वजह शरीर में विटामिन और हार्मोन्स की (treatment for small breast size) कमी होती है. जो बढ़ती उम्र में महिलाओं को नहीं मिलने से ब्रेस्ट के साथ उनके शरीर पर भी असर डालते हैं. कई बार महिलाएं ब्रेस्ट को बड़ा करने के लिए तरह-तरह के उपाय आज़माती हैं.

खूबसूरती प्रत्येक महिला (tips to look beautiful) का सपना होता है. खूबसूरती के साथ यदि स्वास्थ्य हो तो और भी अच्छा होता है. महिलाओं की खूबसूरती में उनका फिगर और फिटनेस दोनों ही मायने रखती हैं ऐसे में जरूरी होता है कि लड़कियां ना तो ज्यादा मोटी और थुलथुली हो और ना ही बिल्कुल दुबली और कमजोर.

दरअसल, खूबसूरती में फिगर और फिटनेस के साथ-साथ स्तनों (ब्रेस्ट) (breast size) का आकार काफ़ी महत्व रखता है. (Ideal Breast Size) परफेक्ट ब्रेस्ट साइज़ न सिर्फ महिलाओं की सुन्दरता में चार-चांद लगाते हैं बल्कि उन्हें आकर्षक भी बनाते हैं. कई महिलाओं को अपने स्तनों के आकार को लेकर हमेशा शिकायत रहती है. उम्र के साथ-साथ उनके स्तनों का ठीक तरह से विकसित न होना, उन्हें हीन भावना से ग्रस्त कर देता है.

ब्रेस्ट साइज़ कम होने की वजह शरीर में विटामिन और हार्मोन्स की (treatment for small breast size) कमी होती है. जो बढ़ती उम्र में महिलाओं को नहीं मिलने से ब्रेस्ट के साथ उनके शरीर पर भी असर डालते हैं. कई बार महिलाएं ब्रेस्ट को बड़ा करने के लिए तरह-तरह के उपाय आज़माती हैं.

कुछ महिलाएं तो इसके लिए दवाइयों का सहारा लेती हैं जो हानिकारक होता है. इन दवाइयों के कई सारे साइड इफ़ेक्ट सामने आते हैं. आइए जानते हैं कुछ घरेलू नुस्खे जो महिलाओं के स्तनों (home remedies for breast enlargement) (ब्रेस्ट) को सुडौल और आकर्षक बना सकते हैं.

ब्रेस्ट बढ़ाने के घरेलू उपाय
मैथी- मेथी में (Fenugreek seeds increase the breast size) प्राकृतिक रूप से एस्ट्रोजनिक (एक प्रकार का हार्मोन) होता है, जो स्तनों के विकास में मदद करता है. स्तनों को सुडौल बनाने के लिए आप मेथी के बीजों का नियमित तौर पर सेवन करें. इसके लिए रात को एक चम्मच मैथी के दानो को पानी में भिगोकर रखें और सुबह सवेरे खाली पेट उस पानी को पीएं.

इसके अलावा रोज़ रात को सोने से पहले दो चम्मच मैथी का तेल हथेली पर लगाकर स्तनों की 15 से 20 मिनिट तक मालिश करें. इससे आपके सीने के आसपास की त्वचा फैलती है. प्रतिदिन इसका प्रयोग करने से स्तन विकसित होने लगते हैं.

सौंफ- स्तनों का आकार बढ़ाने में सौंफ एक महत्वपूर्ण औषधि की तरह काम करती है. दरअसल, (saunf increase breast size) सौंफ़ फ्लेवोनोइड्स से भरपूर होती हैं, जिनमें एस्ट्रोजनिक गतिविधि होती है. इससे शरीर में एस्ट्रोजन का उत्पादन बढ़ जाता है और स्तनों के विकास में मदद मिलती है.

इसके लिए आप एक बर्तन में एक कप पानी और एक चम्मच सौंंफ को डालकर उबाल लें. इसमें थोड़ा सा शहद मिलाकर गर्मा गर्म इसका सेवन करें. ऐसा एक माह तक करने से आपके ब्रेस्ट में उभार नजर आने लगेगा.

दूध और पपीता- रोजाना पके हुए पपीते और दूध का सेवन करने से स्तनों के आकार में वृद्धि करने के साथ-साथ उन्हें सुडौल भी बनाया जा सकता है. दूध और पपीते खाने से शरीर को पौष्टिक आहार की कमी की भी पूर्ति होती है. एक बात का ध्यान रखें की गर्भावस्था के दौरान दूध और पपीते का सेवन न करें. इस अवस्था में दूध और पपीते का सेवन करने से गर्भपात होने का खतरा होता है.

मालिश करें- ब्रेस्ट बढ़ाने के लिए सबसे ज्यादा योगदान मालिश का होता है. (breast massage oil for increasing size) मालिश करने के लिए आप जैतून का तेल या सोयाबीन के तेल इस्तेमाल कर सकती हैं.

मसाज़ करने से  स्तनों के चारों ओर ब्लड सर्कुलेशन बढ़ जाता है. और ब्रेस्ट टिश्यू में खिचाव होता है जो स्तनों का आकार बढ़ने के लिए जरूरी होता है. अगर नियमित रुप से स्तनों की मालिश की  जाए तो कुछ ही महीनों में ही स्तनों के आकार में परिवर्तन शुरू हो जाता है.

पौषक आहार का सेवन- अपने स्तन बढ़ाने के लिए आप पौषक आहार का सेवन अधिक से अधिक करें. अंडा, मछली, बादाम, सोयाबीन पावडर, चना, सूखे मेवे आदि का सेवन अधिक से अधिक करें. यह आपके शरीर के प्रत्येक अंग को बढ़ाने में सहायक होते हैं. जो शरीर को सुंदर और गठीला बनाते हैं.

व्यायाम करें- आप एक दीवार के सामने खड़े हो जाएं और अपने दोनों हाथों को दीवार पर रखें. अब आप दीवार को धक्का देने की कोशिश करें और फिर दीवार से दूर जाएं. यह आसानी से होने वाला व्यायाम है. इसे आप घर पर ही कर सकते हैं. या इसके अलावा आप ज्यादा से ज्यादा रस्सी कूदेंं इससे आपके ब्रेस्ट बढ़ने में मदद मिलती है.

बादाम तेल की मालिश- बादाम शरीर के विकास के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है. ब्रेस्ट को बढ़ाने के लिए सबसे अच्छा होता है बादाम का तेल. रात को सोते समय बादाम के तेल से अपने स्तनों की मालिश 20 मिनिट तक करें. या बादाम को रात को भिगोकर रखें और सुबह खाली पेट इसका सेवन करें. 

नोट: यह लेख आपकी जानकारी बढ़ाने के लिए साझा किया गया है. स्तन संबंधी किसी तरह का रोग अथवा विकार हो अथवा लक्षण नजर आते हों अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें.

error: Content is protected !!