Dona Pattal Business : कम लागत में शुरू करें दोना-पत्तल का बिजनेस

प्राचीन काल से ही मनुष्य खाद्य पदार्थों के सेवन के लिए किसी न किसी वस्तु का प्रयोग करता आ रहा है. पहले मनुष्य पत्तों पर भोजन का सेवन करता था तो आज धातु के बर्तनों में करता है. लेकिन कई जगहों पर धातु के बर्तनों की जगह पर अभी भी दोना-पत्तल (Dona pattal) का प्रयोग होता है. दोना पत्तल की इसी जरूरत ने इसे एक लघु उद्योग (Dona pattal business) का रूप दिया है.

प्राचीन काल से ही मनुष्य खाद्य पदार्थों के सेवन के लिए किसी न किसी वस्तु का प्रयोग करता आ रहा है. पहले मनुष्य पत्तों पर भोजन का सेवन करता था तो आज धातु के बर्तनों में करता है. लेकिन कई जगहों पर धातु के बर्तनों की जगह पर अभी भी दोना-पत्तल (Dona pattal) का प्रयोग होता है. दोना पत्तल की इसी जरूरत ने इसे एक लघु उद्योग (Dona pattal business) का रूप दिया है.

दोना-पत्तल का बिजनेस (Dona Pattal Business)

दोना-पत्तल का बिजनेस एक बेहद ही लोकप्रिय और कम निवेश में किए जाने वाला बिजनेस है. इसकी डिमांड भी काफी है क्योंकि शहर हो या गांव इनकी जरूरत तो रहती ही है. शादियों, पार्टियों, जन्मदिन कोई भी अवसर हो. इनके बिना पूर्ण नहीं होता. इसलिए आज ये एक लोकप्रिय बिजनेस बन चुका है.

दोना-पत्तल का बिजनेस कैसे शुरू करें? (How to start dona pattal business?)

किसी भी बिजनेस को शुरू करने से पहले दो चीजे होना आवश्यक है. एक तो उस बिजनेस के प्रति अनुभव और दूसरा उस बिजनेस के लिए निवेश. यदि आपके पास ये दोनों चीजे हैं तो आप इस बिजनेस को शुरू कर सकते हैं.

दोना पत्तल बिजनेस का रजिस्ट्रेशन (Dona pattal business registration)

दोना पत्तल का बिजनेस दिखने में छोटा दिखाई देता है लेकिन ये भी जोखिम भरा बिजनेस है जिसमें छोटी सी चूक भारी नुकसान कर सकती है. इस व्यावसाय को शुरू करने से पहले आपको अपने शहर के नगर पालिका निगम में अपने बिजनेस का रजिस्ट्रेशन जरूर करवाना चाहिए ताकि आप पर कोई मुसीबत आए तो आप फंसे न. आप कानूनी रूप से सही रहे. इसके अलावा आपको अपनी कंपनी का जीएसटी रजिस्ट्रेशन करवाना भी जरूरी होता है.

दोना-पत्तल बिजनेस के लिए कच्चा माल (Raw material for dona pattal business)

दोना पत्तल कई तरह के बनते हैं. जैसे पत्तों के, कागज के, थर्माकोल के. मार्केट में इन दिनों कागज के दोना-पत्तल काफी डिमांड में है. इसका कारण है की ये लोगों को सस्ते पड़ते हैं, इन्हें लाने-ले जाने में भी कोई दिक्कत नहीं होती है और ये आसानी से नष्ट भी हो जाते हैं. इसलिए आप कागज के दोना-पत्तल का चुनाव कर सकते हैं. इसके लिए कच्चे माल के तौर पर इन चीजों की आवश्यकता होगी.

– अच्छी क्वालिटी का प्रिंटेड पेपर
– बॉटम रील
– प्रिंटिंग सामान
– पैकिंग मटेरियल

दोना-पत्तल मशीन की कीमत (Dona pattal machine price)

दोना पत्तल बनाने के लिए आपको मशीन की जरूरत पड़ती है. ये दो तरह की आती हैं.

1) सिंगल डाइ मशीन : ये मशीन ऑटोमैटिक और मैनुअल दोनों तरह की आती है. मैनुअल मशीन आपको 10 हजार से 30 हजार रुपये तक मिल जाती है. वही औटोमेटिक मशीन आपको 35 हजार रुपये से शुरू होती है.

2) डबल डाइ मशीन : ये मशीन भी ऑटोमैटिक और मैनुअल दोनों तरह की आती हैं. इसमें अच्छी क्वालिटी की ऑटोमैटिक डबल डाइ मशीन लगभग 1 लाख रुपये तक मिल जाती है.

इन मशीनों की सहायता से आप दोना पत्तल का बिजनेस शुरू कर सकते हैं. इसका बिजनेस शुरू करने से पहले आपको कुछ अनुभवी कारीगरों को भी काम पर रखना पड़ेगा क्योंकि ये काम सिर्फ एक व्यक्ति के बस का नहीं है. इसलिए आप कुछ लोगों को काम पर रखने की योजना भी बना कर रखें.

दोना-पत्तल के लिए मार्केटिंग (Marketing for dona pattal business)

दोना-पत्तल बनाने के बाद बारी आती है की आप उन्हें बेचेंगे कैसे क्योंकि आपकी कोई दुकान नहीं है. और दुकान हो भी तो आप जितने बनाएँगे उतने वहां बिकेंगे नहीं. इसलिए आपको अपने दोना-पत्तल को कई सारी दुकानों पर थोक में बेचना होगा. आप शहर या गांव में दुकानों पर जाकर अपने दोना-पत्तल और उसकी कीमतों के बारे में बता सकते हैं. उन्हें खरीदने के लिए कन्वेंस कर सकते हैं. एक बार आपने उन्हें अपना ग्राहक बना लिया तो आपका बिजनेस चल पड़ा.

यह भी पढ़ें :

Home based business : घर बैठे महिलाएं कर सकती हैं ये 5 बिजनेस

Fake Currency Rule : नकली नोट के नियम, नकली नोट मिलने पर क्या करें?

Patanjali Franchise : पतंजलि फ्रेंचाइजी लेकर पतंजलि स्टोर कैसे खोलें?

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!