कहीं धोखेबाजी तो नहीं है इंटरनेट और विज्ञापन से हो रही शादियां?

माना इंटरनेट का है और आज ज्यादातर रिश्तों को जोड़ने का कार्य नेट  कर रहा है या विज्ञापन कर रहे हैं. इन विज्ञापनों में जो कुछ बताया जाता है, कई बार यह गलत भी होता है. कभी झांसे में वर पक्ष आ जाता है तो कभी वधू पक्ष पर ऐसे विवाहों की परिणति अच्छी नहीं होती.

0 562

 

इस समय ज्यादातर बातें शादी टूटने की सामने आती हैं. इसकी सबसे बड़ी वजह झूठ-फरेब का सहारा लेकर रचाई गई शादियां होती हैं. हालांकि जमाना इंटरनेट का है और आज ज्यादातर रिश्तों को जोड़ने का कार्य नेट  कर रहा है या विज्ञापन कर रहे हैं.

सम्बंधित लेख - पढ़िए

इन विज्ञापनों में जो कुछ बताया जाता है, कई बार यह गलत भी होता है. कभी झांसे में वर पक्ष आ जाता है तो कभी वधू पक्ष पर ऐसे विवाहों की परिणति अच्छी नहीं होती. विवाह सूत्र चाहे इंटरनेट के माध्यम से जोड़े जा रहे हैं या विज्ञापनों के माध्यम से, दोनों पक्षों में हर बात स्पष्ट होनी चाहिए.

क्या जरूरी है अच्छे रिश्ते के लिए

दरअसल, शादी कोई गुड्डे गुडि़या का खेल नहीं है. इसमें दो जिंदगियां दांव पर लगी होती हैं इसलिए दोनों पक्षों को निर्णय बहुत सोच-समझ कर करना चाहिए. इसके अतिरिक्त दोनों पक्षों को चाहिए कि रिश्तों की डोर को बांधने में झूठ का सहारा न लें और सही जानकारी ही दें. वधू पक्ष को थोड़ी अधिक सतर्कता से काम लेना चाहिए. आइए जानें कि रिश्ता जोड़ने से पूर्व किन-किन बातों की ओर ध्यान दें-

सही जानकारी लें लड़के बारे में

वर पक्ष से वर की फाइनेंशियल कंडिशन के बारे में जानना बहुत जरूरी है क्योंकि अगर उसकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है तो शादी के बाद की जिम्मेदारियां कैसे उठा पाएगा. लड़का कहां काम करता है, उसकी पोस्ट, ऑफिस के बारे में पूर्ण जानकारी लें. वह कितना कमाता है, यह भी साफ शब्दों में पूछें.

अगर आपके पास लड़के के ऑफिस का पता है तो अपने किसी नजदीकी रिश्तेदार को भेजकर उसके साथ काम करने वालों से उसके बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं. लड़के के घर के पास के पड़ोसियों से भी आप उस परिवार, लड़के की आदतों के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

लड़के और लड़की के बीच मुलाकातें

रिश्ता जोड़ने से पहले लड़के-लड़की की दो चार मुलाकातें जरूर कराएं. इन मुलाकातों से उन्हें एक दूसरे के स्वभाव, विचारों का पता चलेगा. हो सकता है लड़का उतने खुले विचारों का न हो जितनी लड़की है. विचार जब नहीं मिलते तो आपस में निभाना कठिन होता है.

कई बार लड़कियां माता-पिता के दबाव में आकर जबरदस्ती विवाह के लिए राजी हो जाती हैं. इस स्थिति में सुखी वैवाहिक जीवन की कल्पना कैसे की जा सकती है. इसलिए अगर ऐसे हालात हों तो माता-पिता को रिश्ता जोड़ने में समझदारी बरतनी चाहिए.

कई बार लड़कियां माता-पिता के दबाव में आकर जबरदस्ती विवाह के लिए राजी हो जाती हैं. इस स्थिति में सुखी वैवाहिक जीवन की कल्पना कैसे की जा सकती है.

लड़के की इन चीजों पर जरूर ध्यान दें

लड़के को सिगरेट, शराब आदि के बारे में लड़की को जरूर बताना चाहिए. अगर लड़की शादी के बाद जॉब करना चाहती है तो वह यह बात रिश्ता जोड़ते समय बता दें ताकि बाद में कोई अनबन न हो.

रिश्ता जोड़ते समय लड़की तो लड़के वालों के घर नहीं जा सकती पर माता-पिता को तीन-चार बार वहां जरूर जाना चाहिए ताकि वहां के रहन-सहन के बारे में पता चल सके. इससे लड़की और लड़की के घर वालों को यह स्पष्ट हो जाएगा कि उस रहन-सहन में लड़की अपने को एडजस्ट कर पाएगी कि नहीं.

रिश्ता जोड़ते समय आपकी क्वालीफिकेशन से संबंधित सर्टिफिकेट तो नहीं देखे जाते इसलिए दोनों पक्षों को चाहिए कि ऐसी कोई झूठी जानकारी न दे जिससे बाद में गलतफहमियां उत्पन्न हों.

लड़की वालें स्पष्ट करें फाइनेंशियल स्टेटस

लड़की वालों को भी लड़के वालों से अपनी आर्थिक स्थिति स्पष्ट कर देनी चाहिए ताकि वे उनसे जरूरत से ज्यादा अपेक्षाएं न रखें. ज्यादा दिखावा आपकी लड़की के लिए मुसीबत बन सकता है. किसी आशा में लड़के वालों को न रखें.

अक्सर देखा गया है कि लड़की वाले अपनी हैसियत से ज्यादा दिखावा करते हैं जिससे लड़के वालों में लालच बढ़ जाता है. बाद में जब उनकी मांगें पूरी नहीं होती तो लड़की को ताने व अन्य जुल्मों का सामना करना पड़ सकता है.

लड़के लड़की दोनों को अपने जीवन साथी से होने वाली अपेक्षाओं को एक दूसरे को स्पष्ट कर देना चाहिए. आपकी किस्मत में जो है वह तो आपको मिलेगा ही है पर अपनी किस्मत को आप थोड़ी सी समझदारी व सूझ-बूझ से संवार सकते हैं और अच्छा वैवाहिक जीवन जी सकते हैं.