Form 16 : फॉर्म 16 क्या होता है, किस काम आता है, फॉर्म 16 क्यों भरें?

अगर आप हर महीने वेतन पाने वाले इंसान है और इनकम टैक्स (Income tax) के दायरे में आते हैं तो आपको हर साल इनकम टैक्स रिटर्न फॉर्म (Income tax return form) भरना पड़ता है. इनकम टैक्स रिटर्न के लिए आपको फॉर्म 16 (Form 16) भरना पड़ता है. फॉर्म 16 क्या है और किस काम में आता है ये बात कई लोग नहीं जानते लेकिन सैलरी पाने वाले व्यक्ति को इस फॉर्म 16 की जानकारी होना चाहिए.

0 610

अगर आप हर महीने वेतन पाने वाले इंसान है और इनकम टैक्स (Income tax) के दायरे में आते हैं तो आपको हर साल इनकम टैक्स रिटर्न फॉर्म (Income tax return form) भरना पड़ता है. इनकम टैक्स रिटर्न के लिए आपको फॉर्म 16 (Form 16) भरना पड़ता है. फॉर्म 16 क्या है और किस काम में आता है ये बात कई लोग नहीं जानते लेकिन सैलरी पाने वाले व्यक्ति को इस फॉर्म 16 की जानकारी होना चाहिए.

क्या होता है फॉर्म 16? (What is form 16?)

अगर आप कहीं जॉब कर रहे हैं और आपकी सैलरी इनकम टैक्स के दायरे में आती है तो हर महीने आपकी सैलरी से कंपनी की ओर से ही टैक्स काट लिए जाता है जिसे TDS कहते है. ये TDS काटकर कंपनी सरकार के पास जमा करती है. इसी TDS की कटौती का ब्योरा करना और उसे सरकार के पास एडवांस में जमा करने का ब्योरा फॉर्म 16 में ही होता है. सीधे शब्दों में कहे तो ये एक तरीके का सर्टिफिकेट होता है जिसमें आपकी सैलरी पर काटे गए टैक्स की जानकारी होती है.

फॉर्म 16 दो हिस्सों में होता है. (Part of form 16)

फॉर्म 16 का पहला हिस्सा :

– इसमें जिस संस्थान की ओर से TDS काटा जा रहा है उसका नाम, पता और पर्सनल डीटेल देना होती है.
– जिस व्यक्ति की सैलरी से TDS काटा जा रहा है उसका नाम, पता और पर्सनल डीटेल देना होती है.
– कर्मचारी का PAN Number
– TDS काटने वाले नियोक्ता का PAN या TIN number
– कौन से वित्तीय वर्ष के लिए TDS लिया गया है उसकी जानकारी
– सैलरी संबंधी डीटेल
– आपकी totoal income और tax deduction summery देना होती है.

फॉर्म 16 का दूसरा हिस्सा

फॉर्म 16 एक प्रकार का अनुलग्नक होता है जिसमें आपको आपकी सैलरी, tax deduction, tax rebate आदि की जानकारी देना होती है. इसमें कई बिन्दु होते हैं जिन्हें आप नीचे स्टेप बाय स्टेप देख सकते हैं.
– कर्मचारी की आमदनी का वह हिस्सा जिस पर टैक्स लगेगा.
– सेक्शन 10 के तहत मिलने वाली छूट जैसे ग्रेच्युटी, HRA आदि की जानकारी.
– सेक्शन 16 के तहत मिलने वाली deduction की जानकारी.
– टैक्स पर मिलने वाली अलग-अलग छूट जैसे 80 सी, 80 डी, 80 जी आदि का विवरण.
– उन टैक्स कटौतियों का योगफल जो टैक्स वाली इनकम से बाहर हैं.
– आपकी टैक्स देनदारी के रूप में जो अतिरिक्त cess व surcharge हैं उनका डीटेल.
– कुल भुगतान टैक्स की राशि और दी गई टैक्स की राशि.
– वो इनकम जिस पर अंतिम रूप से टैक्स देने की गणना की गई है.
– देनदारी का कोई बकाया या रिफंड कोई मिलना हो तो उसकी डीटेल.

Form 16 कैसे मिलेगा? (Download form 16)

Form 16 को आप अपनी कंपनी या अपनी कंपनी के HR Department से प्राप्त कर सकते हैं. आजकल कंपनियाँ डिजिटल सिग्नेचर युक्त form 16 आपके मेल पर भेजती हैं. आप भले ही वहाँ से जॉब छोड़ दे लेकिन उसके बाद भी आप उसे प्राप्त कर सकते हैं.

Form 16 की जरूरत कब होती है? (Use of form 16)

फॉर्म 16 की जरूरत मुख्यतः आपको 3 जगह पर होती है.
– इनकम टैक्स रिटर्न भरते वक़्त आपकी सैलरी पर काटने वाले टैक्स के लिए.
– फॉर्म 16 मुख्यतः आपकी सैलरी पर जो टैक्स सालभर से कंपनी काट कर सरकार को दे रही है उसका ये सबूत है.
– बैंक से आप किसी भी प्रकार का लोन लेना चाहते हैं तो वहाँ पर भी ये काफी काम मे आता है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!