2022 में महंगी होंगी रोज इस्तेमाल की जाने वाली ये 4 चीजें

नए साल के साथ ही भारत सरकार भारत में तीन प्रमुख चीजों को महंगी करने वाली है. ये तीनों ऐसी चीजे हैं जिनका उपयोग आप रोजाना करते हैं.

साल 2022 आपके लिए काफी सारे बदलाव लेकर आ रहा है. जिस इस वर्ष बैंकिंग को लेकर नियमों में बदलाव देखने को मिलेगा. इसके अलावा काफी सारी चीजे महंगी भी होगी क्योंकि महंगाई भारत में तेजी से बढ़ रही है. नए साल के साथ ही भारत सरकार भारत में तीन प्रमुख चीजों को महंगी करने वाली है. ये तीनों ऐसी चीजे हैं जिनका उपयोग आप रोजाना करते हैं.

कैसे बढ़ेगी महंगाई? (How Inflation Increase in India?) 

नए साल के साथ ही कई सारी चीजे महंगी होने वाली है. जिन चीजों की बात हम कर रहे हैं उन पर सरकार जीएसटी को बढ़ाने वाली है. असल में इन पर लिया जाने वाला वस्तु एवं सेवा कर पहले कम हुआ करता था जो नए साल के साथ बढ़ जाएगा. इस वजह से ये तीनों ही चीजे तेजी से महंगी हो जाएगी.

कपड़े (GST on Clothes) 

कपड़ों की ख़रीदारी लोग साल में कई बार करते हैं और इनका इस्तेमाल रोजाना किया जाता है. कपड़ों के दाम नए साल के साथ तेजी से बढ़ेंगे. हर तरह के कपड़ों के दाम आपको नए साल के साथ बढ़े हुए मिलेंगे. इसकी वजह ये है कि पहले कपड़ों पर 7 प्रतिशत जीएसटी लगता था. अब नए साल के साथ कपड़ों पर 12 प्रतिशत जीएसटी लगेगा. यानी कुल 5 प्रतिशत जीएसटी कपड़ों पर बढ़ाया गया है. इस हिसाब से 1000 रुपये के कपड़े जिन पर पहले सिर्फ 70 रुपये जीएसटी लगता था अब उसकी जगह आपको 120 रुपये जीएसटी देना होगा.

फुटवियर (GST on Footwear)

जूते, चप्पल, सैंडल, स्लीपर ये सभी नए साल के साथ महंगे होने वाले हैं. ये भी ऐसे प्रॉडक्ट हैं जिनका इस्तेमाल हम रोजाना करते हैं. भारत सरकार द्वारा पहले फुटवियर पर 7 प्रतिशत जीएसटी लिया जाता था लेकिन अब सरकार इसे 5 प्रतिशत और बढ़ाकर 12 प्रतिशत कर रही है. अब यदि आप 500 रुपये का कोई जूता खरीदेंगे तो उस पर आपको 60 रुपये जीएसटी देना होगा. इस तरह जूते की कीमत 560 रुपये हो जाएगी.

ऑटोरिक्शा और कैब (GST on Cab Booking) 

अपने शहर में आने-जाने के लिए लोग ऑटो रिक्शा और कैब का इस्तेमाल करते हैं. आप किसी भी एप के जरिये इन्हें बुक कर सकते हैं, ऑनलाइन पेमेंट कर सकते हैं और अपनी पसंद की जगह पर पहुँच सकते हैं. लेकिन नए साल से आपको ऑटो रिक्शा और कैब का सफर महंगा पड़ने वाला है. सरकार ने एप द्वारा बुक किए जाने वाले ऑटो रिक्शा और कैब पर 5 प्रतिशत जीएसटी लगाई है. यानि जो सफर पहले 100 रुपये में होता था अब उसके लिए आपको 105 रुपये देने पड़ेंगे.
जीएसटी की ये दर सिर्फ App Based Booking पर ही लगाई गई है. यदि आप ऑफलाइन तरीके से किसी ऑटो रिक्शा या कैब में सफर करते हैं तो उस पर आपको कोई जीएसटी नहीं देना होती है.

ऑनलाइन फूड (GST on Online Food Delivery) 

आजकल ऑनलाइन फूड ऑर्डर करना एक ट्रेंड बन गया है. लोग हर मौके पर ऑनलाइन फूड ऑर्डर करते हैं. लेकिन नए साल के साथ आपको ऑनलाइन फूड ऑर्डर करना भी महंगा पड़ने वाला है. सरकार ऑनलाइन फूड प्लेटफॉर्म से 5 प्रतिशत जीएसटी लेने वाली है. सरकार इस टैक्स को ग्राहकों से नहीं लेगी, कंपनी से लेगी. लेकिन कंपनी भी टैक्स तभी देगी जब वो आपको महंगा खाना देगी. मतलब सीधे तौर पर वो 5 प्रतिशत जीएसटी कंपनी भी ग्राहक से ही निकालकर देगी.

नए साल के साथ ये सारी चीजे महंगी होने वाली है. इनके अलावा भी काफी सारे सेक्टर्स में काफी चीजे महंगी होने वाली है. जैसे वाहनों की कीमत बढ़ेगी, मोबाइल की कीमतें बढ़ेंगी, प्रॉपर्टी का रेट बढ़ेगा. कई सारी चीजे हैं जिनके रेट तेजी से बढ़ने वाले हैं.

यह भी पढ़ें :

पैसे निकालने के अलावा ATM से कर सकते हैं ये 7 जरूरी काम

कम मिल रहा है राशन, तो ऐसे करें Ration Card Complaint

कैसे खुलवाएं SBI 3 in 1 Account, क्या हैं फायदे?

error: Content is protected !!