PGDCA Full Form : पीजीडीसीए कोर्स सिलेबस और योग्यता

पीजीडीसीए एक कम्प्यूटर कोर्स है जिसे हर वो व्यक्ति कर सकता है जिसका ग्रेजुएशन पूरा हो चुका हो. ये एक डिप्लोमा कोर्स है और इसके अंतर्गत आप कम्प्यूटर की कई सारी चीजे सीख सकते हैं और कम्प्यूटर प्रोफेशनल बन सकते हैं.

कम्प्यूटर कोर्स कई तरह के होते हैं और उन्हीं में से एक खास कोर्स है PGDCA. आज के समय में हर व्यक्ति को कम्प्यूटर का ज्ञान अवश्य होना चाहिए. अगर आप नौकरी करना चाहते हैं तो वो वहाँ पर भी आपको कम्प्यूटर आना चाहिए. ऐसे में यदि आप एक अच्छे कम्प्यूटर कोर्स की तलाश कर रहे हैं तो आप PGDCA कर सकते हैं लेकिन इससे पहले आपको पता होना चाहिए की पीजीडीसीए क्या है? (What is PGDCA?) पीजीडीसीए का फुल फॉर्म क्या है? (PGDCA Full form) पीजीडीसीए कौन कर सकता है? (PGDCA Eligibility) पीजीडीसीए का क्या सिलेबस है?

पीजीडीसीए क्या है? (What is PGDCA?)

पीजीडीसीए एक कम्प्यूटर कोर्स है जिसे हर वो व्यक्ति कर सकता है जिसका ग्रेजुएशन पूरा हो चुका हो. ये एक डिप्लोमा कोर्स है और इसके अंतर्गत आप कम्प्यूटर की कई सारी चीजे सीख सकते हैं और कम्प्यूटर प्रोफेशनल बन सकते हैं.

पीजीडीसीए का फुल फॉर्म क्या है? (PGDCA Full form)

PGDCA का Full Form पोस्ट ग्रेजुएशन डिप्लोमा इन कम्प्यूटर एप्लिकेशन है. (Post graduation diploma in computer application)

पीजीडीसीए कौन कर सकता है? (PGDCA Eligibility)

पीजीडीसीए करने के लिए आपको किसी इण्ट्रेंस एक्जाम को देने की जरूरत नहीं है इसे आप अपना ग्रेजुएशन खत्म करके कर सकते हैं. इसके लिए मुख्य योग्यता ग्रेजुएशन ही है. अगर आपने अपना ग्रेजुएशन पूरा कर लिया है तो आप भी पीजीडीसीए कर सकते हैं.

पीजीडीसीए कितने साल का कोर्स है? (PGDCA Course Duration)

पीजीडीसीए पूरे एक साल का कोर्स है जिसमें दो सेमेस्टर होते हैं. प्रत्येक सेमेस्टर 6 महीने का होता है. डिप्लोमा पूरा करने के लिए आपको दोनों सेमेस्टर में पास होना जरूरी है.

पीजीडीसीए का सिलेबस (PGDCA Syllabus)

पीजीडीसीए में दो सेमेस्टर होते हैं और दोनों सेमेस्टर में अलग-अलग विषय पढ़ाये जाते हैं.

पहले सेमेस्टर का सिलेबस

1) Fundamentals of computer and information technology
2) PC Package (Word, Excel, PowerPoint)
3) Database using MS Access
4) Fundamentals of Multimedia

दूसरे सेमेस्टर का सिलेबस

1) IT Trends and Technologies
2) Internet and web designing
3) Financial Accounting with tally
4) Programming with ASP. NET

PGDCA के फायदे (PGDCA Career scope)

पीजीडीसीए करने के आपको कई फायदे होते हैं.

– इससे आपको कम्प्यूटर की बेसिक से लेकर एडवांस नॉलेज हो जाती है.
– पीजीडीसीए कई सारी सरकारी नौकरियों और प्राइवेट नौकरियों में मांगा जाता है.
– इसकी मदद से आपको एमसीए जैसे कोर्स में सीधे एडमिशन मिल सकता है.
– पीजीडीसीए करने के बाद आप खुद का कम्प्यूटर सेंटर या कोचिंग क्लास खोल सकते हैं.
– पीजीडीसीए करने के बाद आप सरकार के लिए भी काम कर सकते हैं. आप इनकी एजेंसी जैसे एमपी ऑनलाइन, सीएससी, आधार सेंटर आदि की फ्रेंचाईजी लेकर अच्छा बिजनेस कर सकते हैं.

पीजीडीसीए के बाद करियर (Career in PGDCA)

पीजीडीसीए एक ऐसा कोर्स है जो आपको एक कम्प्यूटर प्रोफेशनल बनाता है. आज हर संस्थान को अपने कर्मचारी में एक अच्छे कम्प्यूटर प्रोफेशनल की जरूरत होती है. इसलिये अगर आप कहीं भी नौकरी करना चाहते हैं तो आपको पीजीडीसीए जरूर करना चाहिए. ये आपके प्रोफ़ाइल को और भी मजबूत करने का काम करता है. इसे करने के बाद आप एक अच्छे कम्प्यूटर ऑपरेटर, अकाउंटेंट, वेब डिज़ाइनर आदि बन सकते हैं. ये कोर्स आपकी सैलरी भी बढ़ा सकता है.

पीजीडीसीए एक प्रोफेशनल कोर्स है जो आपको बेसिक नॉलेज देने के साथ-साथ प्रोफेशनल नॉलेज भी देता है जो आपकी प्रोफेशनल लाइफ में भी आपको हेल्प करता है.

यह भी पढ़ें :

DCA का full form क्या है, डीसीए का सिलेबस?

हिन्दी टायपिंग कैसे सीखें, हिन्दी फॉन्ट कैसे डाउनलोड करें?

Hindi fonts free download : हिन्दी फॉन्ट डाउनलोड कैसे करें?

error: Content is protected !!