घरेेेेलू महिलाओं की दुनिया बदल रहे बिजनेस

वुमन इंपॉवरमेंट को लेकर इंडिया में बीते एक दशक में काफी काम हुआ है. पिछले कई सालों में महिलाएं शिक्षित हुई हैं और घर से बाहर निकलकर अपने पैरों पर खड़ी भी हुई है. इंडिया में दुनिया की सबसे ज्यादा महिलाएं रहती हैं. 

0 876

वुमन इंपॉवरमेंट को लेकर इंडिया में बीते एक दशक में काफी काम हुआ है. पिछले कई सालों में महिलाएं शिक्षित हुई हैं और घर से बाहर निकलकर अपने पैरों पर खड़ी भी हुई है. इंडिया में दुनिया की सबसे ज्यादा महिलाएं रहती हैं. 

आंकड़ों की मानें तो इनमें 15 से 64 साल के बीच की महिलाओं की संख्‍या तकरीबन 36 करोड़ है, लेकिन बावजूद इसके महिलाएं पुरुषों के मुकाबले पिछड़ा हुआ महसूस करती हैं.

सम्बंधित लेख - पढ़िए

इसकी बड़ी वजह है आर्थिक रूप से सक्षम ना होना. स्कील्ड होते हुए भी महिलाएं ना जॉब कर पाती हैं ना बिजनेस में हाथ आजमा पाती हैं. ऐसा नहीं है कि महिलाएं नौकरी, बिजनेस और दूसरे काम करने में सक्षम नहीं है, लेकिन सवाल उनकी शिक्षा और मिलने वाले अवसर का है. 

घर बैठे बिजनेस कर रही हैं महिलाएं 

इंडिया में सबसे ज्यादा महिलाएं होने के बीच महिलाएं घर से बाहर निकली हैं और जॉब और नौकरियां कर रही हैं. आपको जानकार हैरानी होगी कि भारत में लगभग 3 मिलियन महिलाएं ही खुद का बिजनेस चला रही हैं, जिनमें अधिकांश वुमन इंटरप्रेन्योर यानी महिला उद्यमी हैं ये सभी छोटा बिजनेस कर रही हैं जिसका सालाना कमाई 10 लाख रुपए से भी कम है.  

image source:paexels.com

ट्यूशन और एजुकेशन में महिलाएं : बीते एक दशक में सर्विस सेक्टर में महिलाएं तेजी से आगे बढ़ी हैं. एजुकेशन सेक्टर में टीचर की जॉब महिलाएं पहले से ही करती आ रही हैं, लेकिन वे education और tuition को भी business के रूप में महिलाएं तेजी से अपना रही हैं. यह बिज़नेस को उभरता हुआ बिज़नेस माना जा रहा है.

सोशल मीडिया के दौर में महिलाएं वीडियो कांफ्रेंसिंग से ट्यूशन दे रही हैं. ऑनलाइन टीचिंग से भी महिलाएं अच्छी कमाई कर रही हैं. 

हेल्थ और फिटनेस के बिजनेस में महिलाएं: हेल्थ फिटनेस और वैलनेस में Pilates, ज़ुम्बा, एरोबिक्स क्लासेज लेकर महिलाएं घर बैठे ही कमा  सकती हैं. इन्वेस्टमेंट काफी कम है, इसके लिए आपको इन स्किल्स में महारथी होना जरूरी है और एक बड़ा हॉल जहां आप लोगों को ये सिखा सकें.

फैशन डिजाइनिंग का बिजनेस-करियर : फैशन, कपड़े और गहनों का बिजनेस महिलाओं को सूट करता है क्योंकि इन कामों में उन्हें इंट्रेस्ट भी होता है.

इन सेक्टर में इन्वेस्टमेंट बेहद कम है और वे खुद ही अपना बिज़नेस शुरू कर सकती हैं. दोस्तों की मदद ले सकती हैं. अब तो वे सोशल मीडिया प्लेटफार्म और ई-कॉमर्स पोर्टल्स का यूज कर भी कमाई कर सकती हैं.

कूकिंग और फास्ट फूड का बिजनेस: महिलाओं को कूकिंग, बेकिंग में रुचि होती है. वे इस समय फास्ट फूड और रेस्तरां का कारोबार भी शुरू कर सकती हैं.

यही नहीं लड़कियां खाना बनाने और कुकिंग क्लासेज देने के अलावा खाने को बेच भी सकती हैं. वे टिफ़िन का बिज़नेस और ऑनलाइन फूड डिलीवरी पोर्टल से भी बिजनेस को आगे बढ़ा सकती हैं. 

इवेंट मैनेजमेंट के बिजनेस में लड़कियां: इवेंट मैनेजमेंट के कोर्स में दाखिला लेकर लड़कियां बड़ी-बड़ी इवेंट कंपनियां जॉइन कर रही हैं. इस सेक्टर में महिलाएं खूब पैसा कमा सकती हैं.

आजकल इवेंट्स और पार्टियों का मैनेजमेंट लोग इवेंट मैनेजरों को हायर करने लगे हैं. जन्मदिन की पार्टियों, कॉरपोरेट इवेंट्स, फेस्टिवल इवेंट्स आदि आयोजित करने में महिलाएं की स्किल्स की काफी सराहना की जाती है. महिलाएं घर बैठे भी इस बिजनेस को कर सकती हैं. 

कंसल्टिंग और काउंसलिंग के बिजनेस में महिलाएं: आज महिलाएं हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही हैं. सर्विस सेक्टर और विशेष रूप से कॉल सेंटर्स में महिलाओं ने अपने कम्युनिकेशन स्कील का लोहा मनवाया है. ऐसे में यदि महिलाएं एजुकेटेड हैं तो कंसल्टिंग का बिज़नेस शुरू कर सकती हैं.

वे पसंदीदा फील्ड की जानकारी दूसरों के साथ शेयर कर उनके फ्यूचर बनाने में मदद कर सकती हैं. कंसल्टेशन बिज़नेस एक उभरता हुआ बिज़नेस सेक्टर है.