Teeth Cavity : दांतों में कैविटी के कारण और घरेलू उपाय

शरीर में छोटी-मोटी बीमारियां होना आम बात है. लेकिन आपको पता होगा की ये सभी बीमारियां हमारी लापरवाही की वजह से होती है. कई बीमारियां ऐसी होती है जो हमारे मुंह में होती है और वो भी हमारी छोटी-छोटी लापरवाही के कारण. इन लापरवाही के चलते सबसे ज्यादा हमारे मुंह में हमारे दांत प्रभावित होते हैं. हमारे दांतों में कई तरह की समस्याएं जैसे कीड़े लगाना, कैविटीज़ की समस्या (Cavity ki problem) इन लापरवाही के चलते होती है.

शरीर में छोटी-मोटी बीमारियां होना आम बात है. लेकिन आपको पता होगा की ये सभी बीमारियां हमारी लापरवाही की वजह से होती है. कई बीमारियां ऐसी होती है जो हमारे मुंह में होती है और वो भी हमारी छोटी-छोटी लापरवाही के कारण. इन लापरवाही के चलते सबसे ज्यादा हमारे मुंह में हमारे दांत प्रभावित होते हैं. हमारे दांतों में कई तरह की समस्याएं जैसे कीड़े लगाना, कैविटीज़ की समस्या (Cavity ki problem) इन लापरवाही के चलते होती है.

कैविटी क्या है? (What is cavity?)

हमारे मुंह में कई तरह बैक्टीरिया मौजूद होते हैं जिनमें से कुछ मुंह के लिए अच्छे होते हैं तो कुछ बुरे होते हैं. जो बुरे बैक्टीरिया होते हैं वो मुंह से संबन्धित समस्याओं के कारण बनते हैं. ये बुरे बैक्टीरिया हमारे दांतों पर हमला करते हैं और दांतों की कठोर परत को नष्ट करने लगते हैं. इस कारण दांतों का कुछ हिस्सा झड़ने लगता है. यानि दांतों में क्षय होता है. दांतों में क्षय होने के कारण उनमें छोटे-छोटे छेद (dant me ched hona) हो जाते हैं. इन्हें हम कैविटी (cavity) कहते हैं.

दाँतो में कैविटी का कारण? (Cause of cavity)

कैविटी होने के पीछे का कारण (cavity ka karan) हमारे खानपान और हमारे मुंह की सफाई में ही छुपा हुआ है. जब हम कुछ खाते हैं तो उसका कुछ हिस्सा हमारे दांतों में ही अटक कर रह जाता है. जब हम इनकी सफाई नहीं करते हैं तो इनमे मौजूद बैक्टीरिया खाने में मौजूद शुगर के साथ मिलकर एसिड का निर्माण करते हैं. ये एसिड एक पीले रंग की परत के रूप में दांतों में जमा होने लगता है. इसकी सफाई न होने की स्थिति में यह दांतों के नुकसान का कारण बंता है. इसके परिणामस्वरूप कैविटी की समस्या पैदा होने लगती है.

कैविटी के लक्षण (Cavity symptoms)

कैविटी के निम्न लक्षण है.
– दांतों में हल्का या तेज दर्द होना.
– कुछ खाने या पीने पर दांतों में ठंडा या गरम महसूस होना.
– दांतों पर सफ़ेद या भूरे रंग के धब्बों का दिखना.
– दांतों में छेद दिखाई देना.

कैविटी के कुछ घरेलू उपाय (Cavity home remedy)

कैविटी से बचने के लिए आप कुछ घरेलू उपाय (cavity gharelu upay) आजमा सकते हैं.

नारियल तेल से कुल्ला करें

कैविटी से छुटकारा पाने के लिए आप एक चम्मच नारियल का शुद्ध तेल लें. इसे 10 से 15 मिनट तक अपने मुंह में डालें और अच्छे से घुमाएं. जब समय पूरा हो जाए तो इसे थूक दें. बाद में दांतों को अच्छे से ब्रश करें और दांत अच्छे से साफ करें. इस प्रक्रिया को दिन में एक बार दोहराएं

नीम की दांतुन करें

कैविटी से छुटकारा पाने के लिए आप नीम की टहनी का उपयोग भी कर सकते हैं. इसके लिए सबसे पहले आपको नीम के टुकड़े के ऊपर वाले हिस्से को चबाकर नरम करना है. जब उसके रेशे नरम हो जाए तो उसे दांतों पर 10 से 15 मिनट तक मलें जैसे आप ब्रश करते हैं. जब आपके दांतों की अच्छी तरह से सफाई हो जाए तो पानी से कुल्ला करें. इस प्रक्रिया को दिन में एक बार दोहराएं.

लौंग का तेल लगाएं

लौंग का तेल भी दांतों में कैविटी के लिए काफी फायदेमंद होता है. इसके लिए आपको दो से तीन बूंद लौंग का तेल और एक रुई का टुकड़ा लेना होगा. आपको इस रुई के टुकड़े पर दो तीन बूंद लौंग का तेल डालना है और प्रभावित दांत पर लगाना है. इस प्रक्रिया को नाप रात को सोने से पहले करें और रात भर के लिए ऐसा ही छोड़ दें. जब तक आपके दांतों का दर्द दूर न हो जाए तब तक इस प्रक्रिया को प्रतिदिन रात में दोहराते रहें.

नमक और पानी का कुल्ला करें

नमक का पानी भी हमारे दांतों के लिए काफी अच्छा होता है. इसका इस्तेमाल करने के लिए आपको एक चम्मच नमक और एक गिलास गरम पानी की जरूरत होती है. इन दोनों को मिलाकर आपको एक मिश्रण तैयार करना है और उससे कुल्ला करना है. याद रहे पानी गुनगुना हो ज्यादा गरम न हो इससे आपका मुंह जल सकता है. इस प्रक्रिया को आप दिन में तीन से चार बार दोहरा सकते हैं.

हल्दी से मसाज करें

हल्दी कितनी फायदेमंद होती है ये तो हम सभी जानते हैं. हल्दी का उपयोग हम अपने दाँतो के लिए भी कर सकते हैं. इसके लिए हमको एक चौथाई चम्मच हल्दी पाउडर की जरूरत होती है. इस हल्दी पाउडर को हमें उंगली के जरिये अपने दांतों और मसूड़ों पर लगाना होता है. अब इसे 10 से 15 मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दें. आप इस प्रक्रिया को आप दिन में एक बार दोहरा सकते हैं.

आंवला चूर्ण का उपयोग करें

आंवला का उपयोग भी दांतों में मौजूद बुरे बैक्टीरिया के लिए अच्छा होता है. इसके लिए आपको आंवले के चूर्ण की आवश्यकता पड़ेगी. आपको आंवले का चूर्ण लेना है और इसको दांतों पर मलना है. अब इसे 10 से 15 मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दें. इसके बाद पानी से कुल्ला करके मुंह को अच्छे से साफ कर लें.

यह भी पढ़ें :

चेहरे के दाग धब्बे हटाने के नुस्खे, त्वचा के पुराने दाग धब्बे दूर करें

Ringworm Home Remedy : दाद होने के कारण, दाद का इलाज और घरेलू उपाय

Crack Heels : फटी एड़ियों का घरेलू इलाज, फटी एड़ियों को ठीक करने के उपाय

error: Content is protected !!