sodium chloride: बीमारियों से बचाता भी है नमक

रोजाना रसोईघर में प्रयोग होने वाला सोडियम क्लोराइड यानि की नमक एक तरह का मिनरल है. जिसका हमारे शरीर के लिए एक निश्चित मात्रा में प्रतिदिन सेवन बहुत आवश्यक है. हालांकि नमक का अधिक मात्रा में सेवन कई तरह की बीमारियों को आमंत्रण देता है.

0 488

रोजाना रसोईघर में प्रयोग होने वाला सोडियम क्लोराइड यानि की नमक एक तरह का मिनरल है. जिसका हमारे शरीर के लिए एक निश्चित मात्रा में प्रतिदिन सेवन बहुत आवश्यक है. हालांकि नमक का अधिक मात्रा में सेवन कई तरह की बीमारियों को आमंत्रण देता है. अधिक मात्रा में नमक खाने से हाई ब्लडप्रेशर, हार्ट अटैक और ऑस्टियोपोरोसिस जैसी बीमारियां हमारे शरीर में घर बना लेती हैं.

नमक की अधिकता से होती हैं बीमारियां

सम्बंधित लेख - पढ़िए

नमक, इलेक्ट्रोलाइड्स बैलेंस में बहुत अहम भूमिका निभाता है. इससे शरीर के सेल्स और आउटर सरफेस में बैलेंस मेंटेन करने में मदद मिलती है. शरीर में नमक की मात्रा अधिक होने पर सेल्स और आउटर सरफेस का संतुलन बिगड़ जाता है. जिससे अतिरिक्त इलेक्ट्रोलाइड्स को बाहर निकलने के लिए शरीर को ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है. इसी वजह से हाइपर टेंशन, ब्लड प्रेशर, किडनी पर असर होने लगता है.

नमक की कमी से हो सकता है हाइपोनिट्रिमिया

किसी कारण शरीर से अत्याधिक मात्रा में पसीना निकल जाने या डायरिया होने से भी नमक की मात्रा कम हो जाती है. इससे लो-ब्लडप्रेशर होने का खतरा काफी हद तक बढ़ जाता है. शरीर से सोडियम की मात्रा बहुत कम हो जाने से हाइपोनेट्रिमिया नामक बीमारी होने का भी डर रहता है. इस स्थिति से निपटने के लिए मरीज को नमक का घोल पिलाएं या फिर सोडियम का कैप्सूल खिला दें. इसके बाद भी स्थिति में सुधार नहीं होने पर मरीज को अस्पताल ले जाना ही उचित होगा.

सभी खाद्य पदार्थों में रहता है नमक

अधिकांश सभी खाद्य पदार्थों में कुछ न कुछ मात्रा में सोडियम क्लोराइड पाया जाता है. ये बात और है कि हमे इसकी जानकारी नहीं होती है. ऐसे में यह जरूरी है कि खाना बनाते समय खाने का फीकापन खत्म करने के लिए ही केवल नमक डालें.

शरीर में पानी की मात्रा को नियंत्रित रखे नमक

पानी की मात्रा को शरीर में नियंत्रित में रखने के लिए सोडियम आवश्यक है और नमक इसका प्रमुख स्रोत है. इसके अलावा दिमाग से शरीर के अन्य हिस्सों तक संदेश लाने-ले जाने में भी सोडियम महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. वहीं सोडियम मांसपेशियों को भी सक्रिय रखने में कारगर सिद्ध होता है. इसकी अधिकता से शरीर में पानी की मात्रा बढ़ जाती है, जो सेहत के लिए परेशानी खड़ी कर सकती है.

नमक न खाना भी है नुकसानदायक

जिन लोगों को हाई ब्लडप्रेशर की शिकायत होती है, डॉक्टर उन्हें कम नमक खाने की सलाह देते हैं. अक्सर कुछ लोग हाई ब्लडप्रेशर होने पर नमक खाना ही बंद कर देते हैं. यह कदम आपकी जान भी ले सकता है. ऐसे में आपको चाहिए कि अचानक नमक खाना बंद न कर के डाइट में धीरे-धीरे इसकी मात्रा कम करें. साथ ही अधिक से अधिक पानी पिएं, जिससे यूरिन के माध्यम से आपके शरीर के सभी अतिरिक्त और अपशिष्ट पदार्थ बाहर निकल जाएं.

(नोट : यह लेख आपकी जागरूकता, सतर्कता और समझ बढ़ाने के लिए साझा किया गया है. यदि किसी बीमारी के पेशेंट हैं तो अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें.)