MPPSC की तैयारी कैसे करें, MPPSC Old Paper & Syllabus कैसे Download करें?

MPPSC ने साल 2020 के आखिर में 235 पदों (MPPSC Total Post) के लिए नोटिफ़िकेशन जारी किया है. इन पदों के लिए आप 11 जनवरी 2021 से 10 फरवरी 2021 तक आवेदन कर सकते हैं. इस वेकेन्सी में पदों का वितरण इस प्रकार किया गया है.

मध्य प्रदेश सरकार ने लंबे इंतज़ार के बाद साल के आखिर में 2020 के लिए MPPSC Exam का नोटिफ़िकेशन (MPPSC Notification 2020) जारी कर दिया है. इस नोटिफ़िकेशन में Deputy Collector से लेकर नायाब तहसीलदार तक के पद हैं. अब इन पदों के लिए आप कैसे तैयारी कर सकते हैं? (How to crack MPPSC in Hindi?) एमपीपीएससी के लिए क्या योग्यता है? MPPSC का syllabus क्या है? एमपीपीएससी के पुराने पेपर कैसे डाउनलोड करें? इन सभी सवालों के जवाब आपको यहाँ मिलेंगे.

MPPSC Vacancy 2020

MPPSC ने साल 2020 के आखिर में 235 पदों (MPPSC Total Post) के लिए नोटिफ़िकेशन जारी किया है. इन पदों के लिए आप 11 जनवरी 2021 से 10 फरवरी 2021 तक आवेदन कर सकते हैं. इस वेकेन्सी में पदों का वितरण इस प्रकार किया गया है.

द्वितीय श्रेणी राजपत्रित

राज्य प्रशासनिक सेवा उप जिला अध्यक्ष – 27 पद
राज्य पुलिस सेवा उप पुलिस अधीक्षक – 13 पद
जिला सेनानी – 1 पद
सहायक संचालक (जनसंपर्क विभाग) – 1 पद
सहायक संचालक (स्कूल शिक्षा विभाग) – 40 पद
सहायक आयुक्त, सहकारिता एवं सहायक पंजीयक, सहकारी संस्थाएं – 6 पद
अधीक्षक (जिला जेल) – 3 पद

तृतीय श्रेणी कार्यपालिक

नायब तहसीलदार – 38 पद
सहकारिता निरीक्षक / सहकारिता विस्तार अधिकारी – 18 पद
मध्य प्रदेश अधीनस्थ लेखा सेवा – 88 पद

MPPSC अधिकारी का वेतन (MPPSC Salary)

MPPSC में यदि आप क्वालिफाइ कर जाते हैं और आपको कोई पद मिल जाता है तो द्वितीय श्रेणी राजपत्रित अधिकारियों को 15600-39100 + 5400 रुपये ग्रेड पे मिलता है. वहीं तृतीय श्रेणी कार्यपालिक के लिए 9300-34800 + 3600 रुपये ग्रेड पे वेतन मिलता है.

MPPSC के लिए पात्रता (MPPSC Eligibility Criteria)

एमपीपीएससी के लिए जो लोग आवेदन करना चाहते हैं उन्हें इसकी पात्रता को अच्छे से जान लेना चाहिए.

शैक्षणिक योग्यता (MPPSC Educational Qualification)

इन पदों पर आवेदन करने के लिए आवेदक का किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से स्नातक की उपाधि लेना जरूरी है.

आयु सीमा (MPPSC Age limit)

इन पदों पर आवेदन करने के लिए गैर वर्दीधारी पदों हेतु आयु 21 साल से 40 साल के बीच होना चाहिए. वहीं वर्दीधारी पदों के लिए आपकी उम्र 21 साल से 33 साल के बीच होना चाहिए. आयु की गणना 1 जनवरी 2021 के आधार पर होगी.

शारीरिक मापदंड (MPPSC Physical Eligibility)

इन पदों पर आवेदन करने हेतु पुरुष की ऊंचाई 168 सेमी होना चाहिए तथा पुरुष का सीना फुलाकर 89 सेमी और बिना फुलाए 84 सेमी होना चाहिए. इसके अलावा महिला आवेदकों की ऊंचाई 155 सेमी होना चाहिए.

MPPSC चयन प्रक्रिया (MPPSC Selection Process)

MPPSC में चयन होने के लिए एक लंबा प्रोसेस है जिसके तीन चरण है. एमपीपीएससी की परीक्षा का दौर 6 से 10 महीने तक चल सकता है. यानि इसके तीनों चरण को पार करने में करीब सालभर का समय लग सकता है. इसलिए आपको इसके प्रत्येक चरण के बारे में अच्छे से जानकारी होना चाहिए.

पहला चरण : प्रारम्भिक परीक्षा (MPPSC Pre Exam)

प्रारम्भिक परीक्षा एक वस्तुनिष्ठ प्रश्नों वाली परीक्षा होती है जो ऑफलाइन होती है. इसमें दो पेपर होते हैं. प्रत्येक पेपर 200 अंकों का होता है और उसमें 100-100 प्रश्न होते हैं. दोनों पेपर एक ही दिन होते हैं लेकिन दोनों के लिए 2-2 घंटे का समय दिया जाता है.

पहला पेपर सामान्य ज्ञान का होता है जिसमें कई सारे विषयों से संबन्धित वस्तुनिष्ठ प्रश्न आते हैं. अगर आपको अगले चरण में जाना है तो इस पेपर में ज्यादा से ज्यादा मार्क्स लेकर आना पड़ेगा. तब जाकर ही आप कट ऑफ को पार कर पाएंगे.

दूसरा पेपर सामान्य अभिरुचि परीक्षण होता है. इसमें भी वस्तुनिष्ठ प्रश्न पूछे जाते हैं. इसमें पास होने के लिए आपको ज्यादा मार्क्स लाने की जरूरत नहीं होती है. इसमें कुछ प्रतिशत जैसे 40 प्रतिशत मार्क्स की ही मांग की जाती है. अगर आप इतने मार्क्स ले आते हैं तो आपको अगले चरण के लिए शॉर्टलिस्ट कर लिया जाता है. मार्क्स की जानकारी नोटिफ़िकेशन में हर साल दी जाती है. इसलिए पहले एक बार नोटिफ़िकेशन को अच्छी तरह पढ़ें.

दूसरा चरण : मुख्य परीक्षा (MPPSC Mains Exam)

ये एमपीपीएससी का दूसरा चरण है. ये एक लिखित परीक्षा होती है जिसमें कुल 6 पेपर होते हैं. ये 6 पेपर अलग-अलग दिन होते हैं. हर पेपर के लिए अलग-अलग अंक निर्धारित होते हैं. इस परीक्षा में आपको कुछ प्रश्न दिये जाते हैं जिनके उत्तर आपको कॉपी पर लिखना होता है. एमपीपीएससी में चयनित होने के लिए आपका मुख्य परीक्षा में अधिक से अधिक अंक लाना बेहद जरूरी होता है. ये परीक्षा कुल 1400 अंकों की होती है. इसमें होने वाले पेपर हैं ;

1) सामान्य अध्ययन I (इतिहास, भूगोल) : 3 घंटे , 300 मार्क्स
2) सामान्य अध्ययन II ( राजनीति, अर्थ शास्त्र, समाज शास्त्र) : 3 घंटे, 300 मार्क्स
3) सामान्य अध्ययन III (विज्ञान एवं तकनीकी) : 3 घंटे, 300 मार्क्स
4) सामान्य अध्ययन IV (दर्शनशास्त्र, मनोविज्ञान) : 3 घंटे, 200 मार्क्स
5) सामान्य हिन्दी एवं व्याकरण : 3 घंटे, 200 मार्क्स
6) हिन्दी निबंध एवं प्रारूप लेखन : 2 घंटे, 100 मार्क्स

तीसरा चरण : इंटरव्यू (MPPSC Interview)

इस परीक्षा का आखिरी चरण इंटरव्यू होता है. इंटरव्यू में आपकी पर्सनलिटी और आपकी सोच का परीक्षण लिया जाता है. इसमें खासतौर पर ये देखा जाता है कि आप किसी परिस्थिति का सामना कैसे करते हैं? अगर आप एक ऑफिसर बन गए तो क्या आप जन समस्याओं को सुलझा पाएंगे? उन्हें सुलझाने के लिए आप किस तरीके का रास्ता अपनाएँगे ये सारी बाते इंटरव्यू में देखी जाती है. पूरा इंटरव्यू 175 मार्क्स का होता है.

एमपीपीएससी में चयनित होने के लिए आपको लिखित परीक्षा और इंटरव्यू में ज्यादा से ज्यादा मार्क्स लाने होते हैं. क्योंकि इसकी मेरिट लिस्ट में इन दोनों के मार्क्स जोड़े जाते हैं. जो उम्मीदवार इन दोनों परीक्षाओं में अधिक अंक पाते हैं उन्हें ही मेरिट लिस्ट में जगह मिलती है.

एमपीपीएससी की तैयारी कैसे करें? (How to crack MPPSC?)

एमपीपीएससी एक काफी बड़ी परीक्षा है इसलिए इसकी तैयारी करने के लिए भी आपको ज्यादा समय देने की जरूरत पड़ती है. इसकी वजह इसका सिलेबस भी है. इसका सिलेबस काफी बड़ा है और आपको दो लेवल पर परीक्षा की तैयारी करना पड़ती है. इसकी तैयारी करने के लिए आप दिये गए टिप्स को फॉलो कर सकते हैं.

– एमपीपीएससी की तैयारी करने के लिए आपको सबसे पहले MPPSC Syllabus दो से तीन बार अच्छी तरह पढ़ लेना चाहिए. इससे आपके दिमाग में ये क्लियर रहेगा कि आपको कौन से सबजेक्ट और कौन से टॉपिक पढ़ना है. MPPSC Syllabus Download करने के लिए दी गई लिंक (http://www.mppsc.nic.in/Examination_plan.html) पर क्लिक करें.

– MPPSC का सिलेबस पढ़ने के बाद बारी आती है कि MPPSC किस तरीके से प्रश्नों को परीक्षा में पूछता है. इसे देखने के लिए आपको अभी तक के MPPSC के Old Papers को रिव्यू करना पड़ेगा. MPPSC Old Paper Download करने के लिए दी गई लिंक (http://www.mppsc.nic.in/oldquestionpapers.htm) पर क्लिक करें.

– इसके बाद आपको ये तय करना है कि आपको पहले प्री एक्जाम के लिए पढ़ाई करना है या फिर Pre के साथ-साथ Mains की तैयारी करना है. अगर आपके पास तैयारी करने के लिए दो से तीन साल का समय है तो आप Pre और Mains दोनों की तैयारी साथ में कर सकते हैं. लेकिन अगर आपका exam 3 से 4 महीने के अंदर ही है तो आपको पहले Pre की तैयारी पूरी मेहनत के साथ करनी चाहिए. क्योंकि आपका Pre नहीं निकलेगा तो आपका Mains का पढ़ा हुआ किसी काम में नहीं आएगा. Pre exam देने के बाद यदि आपको लगे कि आपका Pre निकल जाएगा तो आप दूसरे दिन से ही Mains की तैयारी में लग जाएँ.

– MPPSC की तैयारी करते वक़्त एक टॉपिक के लिए बहुत सारी किताबें न पढ़ें. आप एक ही किताब या एक ही नोट्स पर भरोसा करें और उसे बार-बार रिविज़न करें. अगर आप कई सारी किताबों में उलझ गए तो आप अच्छे से रिविज़न नहीं कर पाएंगे और आपका समय बर्बाद होता चला जाएगा. आप कुछ एडिशनल चीजों के लिए इन्टरनेट पर उस टॉपिक से संबन्धित चीजों को सर्च कर सकते हैं.

– एमपीपीएससी की तैयारी करने में लोगों की बातों और उनके साथ बहस करने में अपना समय बर्बाद न करें. कई लोगों को लगता है कि इससे आपकी स्पीकिंग स्किल अच्छी होगी जिसका फायदा आपको इंटरव्यू में मिलेगा. तो आपको बता दें कि इंटरव्यू में आपके ज्ञान से ज्यादा आपकी पर्सनलिटी का परीक्षण लिया जाएगा. आप कितने सभ्य तरीके से किसी स्थिति को हल करते हैं ये देखा जाएगा. न कि ये देखा जाएगा कि आप अपनी बात को साबित करने के लिए कितना ज़ोर – ज़ोर से चिल्लाकर बात करते हैं. वहाँ आपको अपनी बात रखने का पूरा मौका दिया जाएगा. अगर आपके पास ज्ञान हैं तो आपको किसी के साथ लड़कर अपनी बात साबित करने की जरूरत नहीं पड़ेगी.

– एमपीपीएससी की तैयारी के साथ करेंट अफेयर भी पढ़ते रहें. आप चाहे तो इसके लिए न्यूज़पेपर पढ़ सकते हैं, यूट्यूब पर कोई विडियो देख सकते हैं, या फिर किसी पीडीएफ़ को पढ़ सकते हैं. करेंट अफेयर के लिए हर महीने मैगजीन भी आती है लेकिन इसका उपयोग आप महीने मे करंट अफेयर के रिविज़न के लिए कर सकते हैं. इस पर पूरी तरह निर्भर न रहें.

– रोजाना पढ़ाई के लिए कुछ घंटे निर्धारित करें और उस समय के दौरान अपने मोबाइल को बंद करके अपने से दूर रखें. आपने पढ़ाई के लिए जितना समय निकाला है उस समय को सिर्फ पढ़ाई में लगाए.

– रोजाना टॉपिक को पढ़ने के साथ-साथ पढ़ने के बाद एक बार उसका रिविज़न जरूर करें. इसके बाद उससे संबन्धित MCQ जरूर लगाएँ.

इस तरह आप एमपीपीएससी की तैयारी कर सकते हैं. मध्य प्रदेश में ये काफी बढ़ी एक्जाम है और इसके जरिये आप काफी अच्छे पद पर अधिकारी बन सकते हैं. इसलिए इसकी तैयारी भी गंभीरता के साथ करें. आप इसके जरिये मिलने वाली पोस्ट की गंभीरता को यदि समझेंगे तो आपको पता चलेगा कि ये वाकई में बहुत बड़ी एक्जाम है.

यह भी पढ़ें :

MP Police Constable Vacancy 2020 : एमपी पुलिस कांस्टेबल सिलेबस, एक्जाम पैटर्न और पुराने प्रश्न पत्र

MP Jail Prahari Vacancy 2020: जेल प्रहरी कैसे बनें, योग्यता एवं सैलरी?

Home Guard Bharti : होमगार्ड कैसे बनें, होमगार्ड की सैलरी

error: Content is protected !!