Voter ID Card के बिना, इन 10 Documents से भी डाल सकते हैं वोट

वोट देने के लिए हर बार आप अपना वोटर आईडी कार्ड ले जाते हैं. लेकिन यदि आपका वोटर आईडी कार्ड गुम हो गया है तो आप इन 10 दस्तावेज़ में से किसी एक को ले जाकर वोट दे सकते हैं.

इस साल 5 राज्यों में चुनाव (Election 2022) होना है. और आने वाले समय में कई तरह के चुनाव होने वाले हैं. चुनाव में वोट देने के लिए आपको Voter ID Card की जरूरत होती है. जब आप वोट डालने जाते हैं तो इसे एक पहचान पत्र के रूप में उपयोग किया जाता है. अगर आपका नाम वोटर लिस्ट में है और आपका वोटर आईडी कार्ड गुम गया है या मिल नहीं रहा है तो आप बिना वोटर आईडी कार्ड के भी वोट डाल सकते हैं. इसके लिए 10 दस्तावेज़ में से कोई एक दस्तावेज़ आपके पास होना चाहिए.

वोट डालने के लिए दस्तावेज़ (List of ID Proof for Voting) 

वोट देना हर वयस्क व्यक्ति का अधिकार है. सरकार ने वोट देने की कम से कम उम्र 18 साल रखी है. जो व्यक्ति 18 साल का है वो अपना नाम वोटर लिस्ट में जुड़वाकर वोट दे सकता है. वोट देने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी चीज ये है कि आपका नाम आपके एरिया की वोटर लिस्ट में होना चाहिए. अगर वोटर लिस्ट में आपका नाम है तो आपका वोटर आईडी कार्ड भी बना होगा. लेकिन वोटर आईडी कार्ड गुम गया है या मिल नहीं रहा है तो भी कोई व्यक्ति आपको वोट देने से रोक नहीं सकता है.

चुनाव आयोग द्वारा मतदान करते समय वोटर आईडी कार्ड की डिमांड सिर्फ इसलिए की जाती है ताकि वो वेरिफ़ाई कर सकें कि वोट एक वैध व्यक्ति ही डाल रहा है. किसी और के नाम से कोई दूसरा व्यक्ति वोट नहीं डाल रहा है. वोट डालने के लिए वोटर आईडी कार्ड का होना जरूरी नहीं है. चुनाव आयोग द्वारा 10 ऐसे दस्तावेजों (10 Required Documents for Voting) की सूची जारी की गई है जिनका इस्तेमाल आप वोट डालने के लिए कर सकते हैं.

1) आधार कार्ड

आज के समय में बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक के आधार कार्ड है. इसमें घूमने या चोरी होने पर भी आप दूसरा आधार कार्ड निकाल सकते हैं. इसका प्रयोग आप वोट डालने के लिए भी कर सकते हैं.

2) पासपोर्ट

पासपोर्ट का उपयोग वैसे तो हवाई यात्रा के लिए किया जाता है. लेकिन इसका उपयोग वोट डालने के दौरान अपनी पहचान बताने के लिए भी किया जा सकता है.

3) ड्राइविंग लाइसेन्स

किसी वाहन को चलाने के लिए उसका ड्राइविंग लाइसेन्स होना बेहद जरूरी है. ड्राइविंग लाइसेन्स सिर्फ आपको पुलिस के चालान से बचाने के काम नहीं आता बल्कि ये वोट डालने के दौरान अपनी पहचान बताने के काम में भी आता है.

4) कंपनी का आईडी कार्ड

आप किसी केन्द्र सरकार या राज्य सरकार या फिर किसी PSU में सरकारी कर्मचारी हैं तो आपका कंपनी आईडी कार्ड भी वोट डालने के काम आ सकता है.

5) पैन कार्ड

पैन कार्ड का उपयोग वैसे तो पैसों के लेनदेन में किया जाता है. सरकार इसकी मदद से आपके Transaction पर नजर रखती है. लेकिन ये एक तरह का पहचान पत्र भी होता है. इसकी मदद से भी आप वोट डाल सकते हैं.

6) बैंक पासबुक

Post office या भारत की किसी Schedule bank में आपका अकाउंट है तो आप उसकी पासबुक को भी वोट देने के दौरान इस्तेमाल कर सकते हैं. पासबुक एक ऐसा दस्तावेज़ है जिसमें आपकी फोटो भी होती है और आपका पता भी होता है.

7) मनरेगा जॉब कार्ड

मनरेगा जॉब कार्ड का इस्तेमाल वैसे तो सरकारी योजना का लाभ लेने के लिए किया जाता है. लेकिन ये एक सरकारी दस्तावेज़ है. इसलिए आप इसका इस्तेमाल वोट डालने के लिए भी कर सकते हैं.

8) पेंशन कार्ड

पेंशन कार्ड भी सरकार के द्वारा जारी किए जाते हैं. यदि आपके पास ऐसा पेंशन कार्ड है जिस पर आपकी फोटो लगी है तो आप उसका इस्तेमाल भी वोट डालने के लिए कर सकते हैं.

9) एनपीआर स्मार्ट कार्ड

National Population Register द्वारा जारी स्मार्ट कार्ड को भी आप वोट देने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं.

10) सांसद या विधायक द्वारा जारी पहचान पत्र

वोटिंग के दौरान आपने देखा होगा कि आपके एरिया के सांसद और विधायक आपको एक पेपर पर पहचान पत्र बनाकर देते हैं और आप उससे वोट डालकर आ जाते हैं. ये काफी पुराना तरीका है लेकिन कारगर है. यदि आपका वोटर आईडी कार्ड खो गया है तो इस तरीके के जरिये भी आप वोट डाल सकते हैं.

चुनाव आयोग कभी ये नहीं कहता कि वोट डालने के लिए वोटर आईडी कार्ड जरूरी है. वोटर आईडी कार्ड का उपयोग देश में एक पहचान पत्र के तौर पर होता है. अगर ये आपके पास नहीं है और आपका नाम वोटर लिस्ट में है तो भी आप अन्य पहचान पत्र की मदद से वोट डाल सकते हैं.

यह भी पढ़ें :

चुनाव में क्यों लगाई जाती है आचार संहिता, क्या होते हैं नियम?

cVIGIL App क्या है, चुनाव धांधली की शिकायत कैसे करें?

ग्राम पंचायत चुनाव : सरपंच कैसे बनें, सरपंच की सैलरी?

error: Content is protected !!