Monkeypox पर WHO की चेतावनी : India में भी Alert, जानिए 8 लक्षण 

भारत अभी Monkeypox से अछूता है लेकिन ऐसा जरूरी नहीं कि भारत को किसी तरह की सावधानी रखने की जरूरत नहीं है. भारत को लेकर भी WHO ने अलर्ट किया है.

Monkeypox, कोरोना के बाद दुनिया को परेशान करने वाली दूसरी बीमारी बनकर उभरने वाली है. WHO ने भी इसे लेकर सभी देशों को चेताया है. पिछले कुछ दिनों से इसके Monkeypox Cases तेजी से बढ़ रहे हैं जिसके चलते हर देश को अलर्ट रहना चाहिए.

भारत अभी Monkeypox से अछूता है लेकिन ऐसा जरूरी नहीं कि भारत को किसी तरह की सावधानी रखने की जरूरत नहीं है. भारत को लेकर भी WHO ने अलर्ट किया है. इसलिए Monkeypox क्या है? Monkeypox कैसे फैलता है? Monkeypox के लक्षण क्या है? Monkeypox का इलाज क्या है? इन सभी सवालों के जवाब आपको जरूर जानना चाहिए.

Monkeypox क्या है? (What is Monkeypox?) 

Monkeypox एक दुर्लभ वायरल इन्फेक्शन है, (Monkeypox in Hindi) जो जानवर के जरिये इन्सानों में फैल रहा है. ये एक ऐसी बीमारी है जो छूने से फैलती है. एक इंसान से दूसरे इंसान को छूने पर ये बीमारी फैल रही है. 

Monkeypox का पहला मामला 1958 में सामने आया था. लेकिन इसे लेकर पहला मानव मामला 1970 में सामने आया था. भारत में इसके कोई केस देखने को नहीं मिले हैं. इसकी शुरुआत अफ्रीका से हुई थी. मुख्य रूप से मध्य और पश्चिम अफ्रीका में इसके सबसे ज्यादा केस देखने को मिले हैं. 

किन देशों में फैला है Monkeypox? (Monkeypox in which country?) 

Monkeypox के मरीज अभी तक 12 देशों में फैल चुके हैं. पिछले 15 दिनों में इसके 100 से भी ज्यादा मरीज हो गए हैं. अभी तक Monkeypox के मरीज ब्रिटेन, अमेरिका, इटली, स्वीडन, फ्रांस, स्पेन, पुर्तगाल, जर्मनी, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, बेल्जियम, नीदरलैंड्स, इजराइल, ऑस्ट्रिया और स्विट्जरलैंड में मिले हैं. मरीजों की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है जिसके बाद WHO ने अलर्ट जारी किया है. 

Monkeypox पर WHO की चेतावनी (WHO Guideline for Monkeypox) 

Monkeypox को लेकर WHO ने चेतावनी दी है कि लाइलाज और जानलेवा मंकीपॉक्स के मामले तेजी से बढ़ सकते हैं. WHO का कहना है कि ये बीमारी उन देशों में भी फैल रही है जहां इसके फैलने की उम्मीद नहीं की जा रही थी. 

आने वाले दिनों में उन देशों में इसके मामले तेजी से बढ़ सकते हैं जिनमें ये इस समय बिलकुल भी नहीं है. डबल्यूएचओ जल्दी ही इसके प्रसार को कम करने के लिए कोई गाइडलाइन जारी कर सकता है. डबल्यूएचओ ने बीमारी को लेकर जांच शुरू कर दी है. 

भारत पर Monkeypox का असर (Monkeypox effect in India) 

WHO ने चेताया है कि जिन देशों में इसके फैलने की उम्मीद नहीं थी वहाँ भी इसके फैलने की उम्मीद की जा रही है. ऐसे में भारत में ये कब आ जाए कुछ कह नहीं सकते. भारत को इस बीमारी से बचाव के लिए तैयार रहना चाहिए.

भारत में इसके बचाव को लेकर अलर्ट भी जारी कर दिया गया है. खासतौर पर मुंबई में संदिग्ध मरीजों की जांच के व्यवस्था की गई है. एवं संदिग्ध मरीजों के लिए 28 बेड का आइसोलेशन वार्ड भी तैयार किया गया है. 

Monkeypox के लक्षण (Symptoms of Monkeypox) 

Monkeypox की पहचान के लिए उसके लक्षण जानना बेहद जरूरी है. Monkeypox होने पर मरीज को कई लक्षण महसूस हो सकते हैं जो मरीज मेन दो से चार सप्ताह तक नजर आ सकते हैं. इसके लक्षण गंभीर हो जाने पर जान जाने का खतरा भी है. Monkeypox के सामान्य लक्षण 

  1. बुखार
  2. सिरदर्द
  3. पीठ दर्द
  4. ठंड लगना
  5. मांसपेशियों में दर्द
  6. थकावट
  7.  चेचक जैसे दाने
  8. लिम्फ़ नोड्स में सूजन

Monkeypox का इलाज और बचाव (Monkeypox Treatment and prevention) 

Monkeypox के लिए वर्तमान में कोई पुख्ता इलाज नहीं है और न ही WHO की ओर से इसके इलाज के लिए कोई गाइडलाइन जारी की गई है. हालांकि ये बीमारी चेचक की तरह फैल रही है इसलिए इसमें चेचक के टीके का उपयोग इलाज के दौरान किया जा रहा है. डबल्यूएचओ के अनुसार चेचक के इलाज के लिए विकसित एक एंटीवाइरल एजेंट को भी Monkeypox के इलाज के लिए लाइसेन्स दिया गया है. 

कैसे फैलता है Monkeypox? (How monkeypox increse?) 

Monkeypox की शुरुआत जानवरों से इन्सानों में मानी गई है. जिन जानवरों में कुतरने की फितरत होती है उन जानवरों के कारण Monkeypox फैल रहा है. ये इसका आरंभिक चरण है. लेकिन जब ये किसी व्यक्ति को हो जाता है तो ये दूसरे व्यक्ति को तब ही फैलता है जब वो शारीरिक रूप से उसके संपर्क में आता है. मतलब एक दूसरे के छूने से इस बीमारी के फैलने का खतरा सबसे ज्यादा है. 

Monkeypox को लेकर भारत में अभी तक एक केस भी नहीं है लेकिन इसका खतरा भारत पर भी बताया जा रहा है. इसलिए इससे सतर्क रहने की आवश्यकता है. किसी भी व्यक्ति को यदि इसके लक्षण दिखाई देते हैं तो उसके संपर्क में आने से बचना चाहिए. 

error: Content is protected !!