Corning Gorilla Glass क्या होता है, स्मार्टफोन के लिए क्यों जरूरी है गोरिल्ला ग्लास?

Gorilla Glass Kya hota hai? हर स्मार्टफोन यूजर को जानना चाहिए. ये एक ऐसा ग्लास होता है जो आपके स्मार्टफोन की उम्र को बढ़ा सकता है. इसलिए इसकी जांच करना आवश्यक है.

जब आप स्मार्टफोन खरीदते हैं तो कंपनियां कहती है कि उनकी डिस्प्ले के लिए Corning Gorilla Glass का उपयोग किया गया है. हर डिस्प्ले में अलग-अलग तरह के ग्लास का उपयोग किया जाता है लेकिन आजकल लगभग हर स्मार्टफोन Gorilla Glass के साथ ही आता है. ऐसे में ये जानना बेहद जरूरी है कि Gorilla Glass Kya hota hai? Gorilla Glass कितने प्रकार के हैं? Gorilla Glass कैसे बनता है? और Gorilla Glass के क्या फायदे हैं?

Gorilla Glass क्या होता है? (What is Gorilla Glass?) 

स्मार्टफोन का सबसे मुख्य भाग होता है उसकी डिस्प्ले क्योंकि इसी की मदद से आप पूरे स्मार्टफोन को ऑपरेट करते हैं. ये जितना ज्यादा सुरक्षित होगा, उतना ही ज्यादा चांस रहेगा कि आपका स्मार्टफोन ज्यादा समय तक चले. 

स्मार्टफोन को सुरक्षित रखने के लिए डिस्प्ले में एक ग्लास का उपयोग किया जाता है. ये अलग-अलग तरह के होते हैं लेकिन सबसे ज्यादा जिस ग्लास का उपयोग आज के समय में किया जा रहा है वो Corning Gorilla Glass है. इसके अलग-अलग वर्जन को इस्तेमाल किया जा रहा है. 

Corning Gorilla Glass एक तरह का मजबूत ग्लास है. इसे तोड़ने के लिए ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है. अगर स्मार्टफोन गिर जाए तो ये बहुत जल्दी नहीं टूटता है. साथ ही इसमें स्क्रैच भी बहुत जल्दी नहीं आते हैं. 

ये एक environment friendly glass होता है जो Alkali-Aluminosilicate के पतले शीट से बनाया जाता है. इनका प्रयोग सबसे ज्यादा स्मार्टफोन में किया जाता है और आजकल कई स्मार्टफोन गोरिल्ला ग्लास की प्रोटेक्शन के साथ आते हैं. यही वजह है कि आजकल स्मार्टफोन गिरने पर उनकी डिस्प्ले जल्दी से टूटती या क्रैक नहीं होती है. इसके अलावा ये Scratch Resistant भी होते हैं यानि इन पर आसानी से scratch नहीं आते हैं.

Gorilla Glass कैसे बनता है? (How Gorilla Glass made?) 

Gorilla Glass बनाने की शुरुआत साल 1952 में Corning कंपनी के द्वारा हुई. उस समय वैज्ञानिकों ने Photosensitive Glass को Furnace में टेस्ट के लिए रखा. टेस्ट के दौरान उसका तापमान 900 डिग्री तक पहुंचाया गया. जिसके परिणाम स्वरूप वो Photosensitive Glass एक मजबूत Glass Sheet में बदल गया. वैज्ञानिकों ने उसे तोड़कर देखा तो तोड़ने में काफी ज्यादा मेहनत लगी. इस तरह दुनिया में Gorilla Glass का जन्म हुआ और ये आजकल डिस्प्ले वाली डिवाइस में आने लगा. 

Gorilla Glass के प्रकार (Types of Gorilla Glass) 

1 फरवरी 2008 को Corning कंपनी Gorilla Glass का पहला वर्जन लेकर आई थी. इसके बाद धीरे-धीरे कंपनी रिसर्च करती गई और अपने ग्लास को मजबूत करती गई. अभी तक मार्केट में Corning Gorilla Glass के 6 वर्जन आ चुके हैं. हर नया वर्जन पहले वाले वर्जन से मजबूत होता है. 

Corning Gorilla Glass 2

साल 2012 में Corning Gorilla Glass 2 को लाया गया. ये पहले वर्जन से 20 प्रतिशत पतला था. इसकी टच सेंसिटिविटी भी काफी अच्छी थी जिस वजह से मार्केट में इसकी डिमांड तेजी से बढ्ने लगी. 

Corning Gorilla Glass 3

साल 2013 में ही इसे लाया गया. Version 2 को काफी ज्यादा अपडेट किया गया. जिसका परिणाम ये निकला कि ये पहले से तीन गुना Scratch Resistant बन गया. 

Corning Gorilla Glass 4

Version 3 के बाद साल 2014 के आखिरी में कंपनी ने Gorilla Glass 4 को मार्केट में लांच किया. इस ग्लास की खास बात ये थी कि इसने ड्रॉप टेस्ट को पास किया था. इसे 10 में से 8 बार गिरने पर इसमें टूटने की शिकायत नहीं आई. ये लोगों को काफी पसंद आया. क्योंकि इसकी वजह से उनका स्मार्टफोन लंबे समय तक चलने वाला था. 

Corning Gorilla Glass 5

इस बार कंपनी ने बड़ा धमाका किया और साल 2016 में samsung galaxy note 7 के साथ इसे लांच किया. इस बार ये पहले वाले से 4 गुना ज्यादा मजबूत था. इसकी मोटाई को भी कम किया. इस ग्लास ने स्मार्टफोन का लुक तो बदला ही साथ ही स्मार्टफोन को ज्यादा सुरक्षा दी. 

Corning Gorilla Glass 6

साल 2019 में Samsung Galaxy S10 के साथ कंपनी ने Gorilla Glass 6 को लांच किया. इस पर काफी रिसर्च की गई थी और इसे एक बढ़िया प्रॉडक्ट बनाया गया था. इसे पहले के मुक़ाबले और भी ज्यादा मजबूत और लंबे समय तक चलने वाला बनाया गया था. 

Gorilla Glass का सफर आगे भी जारी रहेगा और इसके नए वर्जन आते रहेंगे जिसमें कंपनी इसे और भी ज्यादा सुरक्षित बनाने पर काम करेगी. आज के समय में Gorilla Glass 6 का सबसे ज्यादा उपयोग किया जाता है. ये Scratch Resistant होता है और लंबे समय तक चलता है. साथ ही गिरने पर ये बहुत जल्दी नहीं टूटता है. 

Gorilla Glass के फायदे (Gorilla Glass Benefits) 

स्मार्टफोन खरीदने पर दुकानदार भी आपको कहता है कि इसमें Gorilla Glass लगा हुआ है. गिरने पर ये आसानी से नहीं टूटेगा. जब आपके फोन में गोरिल्ला ग्लास लगा होता है तो आप इसे अगर कम ऊंचाई से गिराते हैं तो ये टूटता नहीं है. इसके साथ ही इस पर Scratch के निशान भी नहीं लगते हैं. अधिकतर महंगे स्मार्टफोन में अच्छे Gorilla Glass देखने को मिलते हैं. इनकी टच पानी के अंदर भी काम करती है और नुकीली चीज से इन पर कोई निशान भी नहीं बनता है. बस इसका सबसे बड़ा फायदा यही है कि आपका स्मार्टफोन सुरक्षित रहता है और लंबे समय तक चलता है. 

यह भी पढ़ें :

3 GB RAM और 5000mAH Battery के साथ लांच हुआ Micromax का सस्ता स्मार्टफोन

1 मिनट में जानें, चोरी का तो नहीं है सेकंड हैंड स्मार्टफोन

In Note 2 Review: सबसे कम कीमत पर लांच हुआ स्वदेशी 5जी स्मार्टफोन

error: Content is protected !!