12वीं बाद कैसे चुनें कोर्स? क्या शौक बन सकता है प्रोफेशन?

12वीं क्लास के एग्जाम रिजल्ट आने के बाद कुछ स्टूडेंट्स सामने अपने करियर को सही दिशा में ले जाने को लेकर प्रॉबल्म हो सकती है. कुछ स्टूडेंट्स अपनी पढाई कंटिन्यू रखना चाहते है तो कुछ स्टूडेंट जॉब करना चाहते है. ऐसे टाइम पर आपको सही गाइडेंस की जरूरत होती है.

0 950

12वीं क्लास के एग्जाम रिजल्ट आने के बाद कुछ स्टूडेंट्स सामने अपने करियर को सही दिशा में ले जाने को लेकर प्रॉबल्म हो सकती है. कुछ स्टूडेंट्स अपनी पढाई कंटिन्यू रखना चाहते है तो कुछ स्टूडेंट जॉब करना चाहते है. ऐसे टाइम पर आपको सही गाइडेंस की जरूरत होती है. हम आपको कुछ ऐसे ही कोर्स के बारे में बताएंगे जिन्हे करने के बाद आप जल्दी जॉब हांसिल कर सकते है.

डिप्लोमा इन फैशन डिजाइनिंग-
कपड़ों और एसेसरीज का शौक रखने वाले स्टूडेंट के लिए यह सब्जेक्ट बहुत अच्छा है. अगर आप स्टाइल और डिजाइन के साथ एक्सपेरिमेंट करने की समझ बखूबी जानते हो तो फैशन डिजाइनिंग में डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैं.

सम्बंधित लेख - पढ़िए

डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन-
अगर आप टेक्नोलॉजी में इंटरेस्ट रखते है और आपको कंप्यूटर के बारे में जानना और एप्लीकेशन और सॉफ्टवेयर के बारे में जानना अच्छा लगता है तो आप कंप्यूटर एप्लीकेशन में डिप्लोमा कर सकते हैं.

डिप्लोमा इन होटल मैनेजमेंट-
होटल मैनेजमेंट ट्रैवल और हॉस्पिटेलिटी इंडस्ट्री का एक हिस्सा है. होटल मैनेजमेंट में डिप्लोमा कोर्स करके आप होटल रेस्टोरेंट, कैटरिंग कंपनियों, शिप्स इत्यादि में जॉब हांसिल कर सकते है. इस कोर्स को करने के बाद आपको अच्छा सैलरी पैकेज मिल सकता है.

डिप्लोमा इन फिजिकल एजुकेशन-
अगर आपका इंटेस्ट स्पोर्ट्स में है तो ये कोर्स आपके लिए बेस्ट है. इस कोर्स को करने के बाद आप स्पोर्ट्स कोच या ट्रेनर के तौर पर जॉब कर सकते हैं. फिजिकल एजुकेशन का कोर्स करके आप हेल्थ एंड फिटनेस इंडस्ट्री, रि- क्रिएशन सेंटर, फिटनेस सेंटर, स्कूल-कॉलेज इत्यादि में काम कर सकते हैं.

डिप्लोमा इन रिटेल मैनेजमेंट-
आजकल बड़े शहरों के साथ-साथ छोटे शहरों में भी मॉल, डिपार्टमेंटल स्टोर्स, फ्रेंचाइजी खुलने लगे हैं. ऐसे में ये कोर्स आपके करियर के लिए काफी बेहतर होगा. फ्यूचर में इस क्षेत्र में काफी करियर ऑप्शंस होंगे.

डिप्लोमा इन नर्सिंग-
लड़कियों के लिए ये बहुत अच्छा करियर ऑप्शन है. इस कोर्स को करने के बाद आप हॉस्पिटल्स और नर्सिंग होम्स के अलावा स्कूल, कंपनी और अमीर लोगों के घरों में काम करती हैं.