Browsing Category

रोचक दुनिया

ओरांगुटान: अतीत से सीखते हैं खतरे को भांपना

दुनिया भर के जितने भी पशु और पक्षी हैं, उनको प्रकृति के खतरों का आभास पहले ही हो जाता है. वो आने वाले प्रकृतिक खतरों के साथ ही अपने आसपास के अन्य खतरों को भी भांप लेते हैं. सभी जानते हैं कि कई स्तनधारी व पक्षी शिकारी या खतरे को देख अपने…
Read More...

कैसे अपनी सफाई का ध्यान रखती हैं बिल्लियां

साफ-सफाई मानव का स्वाभाविक सा गुण है, लेकिन कई जानवर भी इससे अछूते नहीं हैं. इन्हीं में से एक जानवर है बिल्ली. आपने यदि ध्यान दिया हो तो बिल्लियां अपना अधिकांश समय अपने मालिक को खुश करने, उछल-कूद मचाने और खुद को चाटने में व्यतीत करती हैं. …
Read More...

चिंता का विषय है भारत में शराब की बढ़ती खपत

देश में साल दर साल शराब की खपत में इजाफा हो रहा है. आंकड़ों पर नज़र दौड़ाएं तो साल 2005 से 2016 के बीच भारत में प्रति व्यक्ति शराब का उपभोग करीब दोगुनाहो गया है. साल 2005 में जहां भारत में प्रति व्यक्ति अल्कोहल उपभोग 2.4 लीटर था, वहीं साल 2016…
Read More...

क्यों हो रही है गुजरात के गिर में में शेरों की मौत

दुनिया भर की सरकारें शेरों को बचाने को लेकर कई तरह के कार्यक्रम चला रही हैं. शेरों का संरक्षण करने के लिए कई निजी संस्थाएं भी कार्यरत हैं. इसके बाद भी गुजरात के गिर अभयारण्य में पिछले दिनों हुई 23 शेरों की रहस्यमय मौत जैसी घटनाएं होना…
Read More...

दक्षिण अफ्रीका की अर्थव्यवस्था पर बोझ बनीं घुसपैठी जैव प्रजातियां

दक्षिण अफ्रीका में जैव प्रजातियों की घुसपैठ के कारण आर्थिक नुकसान होने का मामला सामने आया है. राष्ट्रीय जैव विविधता संस्थान की ओर से प्रस्तुत की गई एक रिपोर्ट में इस बात का खुलासा किया गया है. रिपोर्ट में घुसपैठी जैव प्रजातियों की वजह से…
Read More...

पर्यावरण चिंता का विषय है गिद्धों की घटती संख्या

गिद्धों की पहचान एक अपमार्जक यानी की सफाई करने वाले पक्षी के रूप में है. दुनिया भर में गिद्ध की कुल 22 प्रजातियां पाई जाती हैं और भारत में पांच प्रजातियों के गिद्ध पाए जाते हैं. इनमें भारतीय गिद्ध (Gyps indicus), लंबी चोंच वाला गिद्ध (Gyps…
Read More...

एंजाइम विकास रिसर्च से हो सकेगा कैंसर का ट्रीटमेंट

इस साल रसायन शास्त्र का "नोबेल" पुरस्कार पाने वाले तीन वैज्ञानिकों ने "अणुओं के संश्लेषण के लिए जैव विकास के सिद्धांतों का उपयोग" विषय पर शोध कर आश्चर्यजनक परिणाम हासिल किए. इस शोध के बाद अणुओं के कई व्यावहारिक उपयोग भी सामने आए हैं.
Read More...

water crisis: ज़रूरी है समय पर सचेत और सतर्क होना

पानी, कभी बाढ़ के रूप में अपनी भयावहता दिखाता है, तो कभी बूंद-बूंद के लिए लोगों को तरसा देता है. साढ़े चार अरब साल पहले धरती पर पानी आया था. वर्तमान में लगातार गहराते जलसंकट को देखते हुए पानी महत्वपूर्ण व मूल्यवान वस्तु बन चुका है.
Read More...

कैसे नि‍कालते हैं पक्षी मधुर आवाज़

प्रकृति हमेशा ही इंसानों को अपने रहस्यों के प्रति प्रभावित करती रही है. ऐसा ही एक रहस्य है कुछ पक्षियों के गले से निकलने वाला मधुर स्वर. आखिर कैसे कुछ पंछी अपने गले से विभिन्न मधुर स्वर निकल लेते हैं. पक्षियों की मधुर आवाज़ के पीछे उनके सीने…
Read More...

study: जाने, अनजाने कितने चेहरे हैं आपको याद?

किसी इंसान को सामान्यतः कितने लोगों की शक्लें याद रह सकती हैं. आमतौर पर हमें अपने दोस्तों, रिश्तेदारों, सहपाठियों और सहकर्मियों के चेहरे आसानी से याद हो जाते हैं. इसके अलावा कुछ प्रसिद्ध हस्तियों के साथ ही कुछ ऐसे अजनबी जो रोज़ाना या कभी-कभी…
Read More...