Browsing Category

समाज और संस्‍कृति

कौन था महिषासुर? संसद में क्यों हुआ विवाद? हर सवाल का जवाब देती है ये किताब..!     

कौन था महिषासुर? संसद में क्यों हुआ विवाद? क्या आज भी देश में कहीं रहते हैं असुर जाति के लोग? कौन थी देवी दुर्गा? हर सवाल का जवाब देती है ये किताब..!
Read More...

यहां हैं 14 साल से कम उम्र के 25 करोड़ मजबूर बच्चे, रौंगटे खड़े कर देगी ये कहानी..!

आपने अक्सर शहरों के रेलवे प्लेटफॉर्म पर बोझ ढोते, जूते पॉलिश-करते, होटलों में जूठे बर्तन धोते व घरों में नौकरों के रूप में काम करते बच्चों को देखा होगा. कभी जानने की कोशिश की है कि ये बच्चे कहां से आते हैं? कौन है ये बच्चे? कैसे जीते हैं…
Read More...

नई बहू के साथ ना करें ऐसा व्यवहार, वरना मुश्किल में पड़ जाएगी फैमिली..!

हर लड़की के जीवन में एक ऐसा समय आता है, जब उसे अपने पिता का घर छोड़ ससुराल में जाना होता है और यही समय एक लड़की के जीवन का सबसे कठिन समय भी होता है, जिस घर में वह पली बढ़ी होती है उसे छोड़ना..!
Read More...

प्रदूषण पर नहीं संभला इंडिया तो हर घर में फैलेगा जहर, चौंकाती है ये रिपोर्ट

प्रदूषण आने वाले समय में इंडिया की सबसे बड़ी प्रॉब्लम बनने वाला है. इसे रोका नहीं गया तो जहरीली हवा हर घर में एंट्री लेगी. सवाल यह है कि हमारा समाज इसे लेकर कब जागरूक होगा? कब तक लोग अदालतों की फटकार और आदेशों का इंतजार करेंगे? ये रिपोर्ट…
Read More...

किसी की लाइफ खराब कर सकता है आपका टाइम पास लव, संभल जाएं..!

लाइफ की एक खास स्टेज में लड़के-लड़कियां प्यार को टाइम पास लव बना देते हैं. यह जिंदगी का वह समय होता है जब ना तो फैमली की जिम्मेदारी होती है और ना ही सोसायटी से ज्यादा कनेक्शन होता है.
Read More...

33 की दुल्हन, 104 का दूल्हा, देश में अजीब शादियां हुई इस साल

कुआलालम्पुर की एक ऐसी ही घटना 3 मई को अखबारों की सुर्खियां बनीं, जिसमें एक 33 वर्षीय दूल्हे ने 104 वर्ष की दुल्हन से शादी की. यह भी उल्लेखनीय रहा कि महिला की यह 21वीं शादी थी.
Read More...

रिटायरमेंट के बाद ये रूटीन देगा एक्टिव लाइफ..!

अक्सर देखने में आता है कि लोग रिटायरमेंट के बाद अपने जीवन को नीरस बना देते है. वे अपने आप ही अपने को असहाय और बूढ़ा मान लेते है. उनके हिसाब से उनकी जिदंगी के स्वर्ण पल समाप्त हो जाते है. वे लोग जो रोज सुबह उठकर अपनी दिनचर्या की शुरूआत बड़े…
Read More...

कितने सुरक्षित हैं देश के स्कूलों में बच्चे?

गुड़गांव के रायन इंटरनेशनल स्कूल के बाथरूम में मासूम प्रद्युम्न की हत्या ने देश के लाखों मां-बाप को सोचने पर मजबूर कर दिया है. उनका बच्चा अब स्कूल में भी सुरक्षित नहीं है. सामाजिक और नैतिक मूल्यों में तेजी से आती गिरावट ने कई सवाल खड़े किए…
Read More...

विदेशों में तेजी से फैल रही है हिंदी, भारत ही नहीं इन देशों के लोग भी बोलते हैं शान से

हिंदी दुनिया में सबसे ज़्यादा बोली जाने वाली भाषाओं में से एक है. य़ह अपने आप में पूर्ण रूप से एक समर्थ और सक्षम भाषा है. सबसे बड़ी बात यह भाषा जैसे लिखी जाती है, वैसे बोली भी जाती है.
Read More...

देश की राजनीति में कब शामिल होगा पर्यावरण का मुद्दा?

अधिकांश राजनीतिक दलों के एजेंडे में पर्यावरण संबंधी मुद्दा है ही नहीं है, ना ही उनके चुनावी घोषणापत्र में पर्यावरण, प्रदूषण कोई मुद्दा रहता है.
Read More...