SEBI क्या काम करती है, SEBI में नौकरी कैसे मिलती है?

सेबी एक वैधानिक निकाय (Constitutional Body) है जिसकी स्थापना सेबी एक्ट 1992 (SEBI Act 1992) के द्वारा की गई है. सेबी का पूरा नाम Security and Exchange Board Of India है. इसे हिन्दी में “भारतीय प्रतिभूति और विनियम बोर्ड” (SEBI Full form) कहा जाता है.

आपने अखबारों और न्यूज़ चैनल पर SEBI का नाम सुना होगा. जिसे हम सेबी भी कहते हैं. सेबी भारत की एक महत्वपूर्ण संस्था है जो काफी महत्वपूर्ण कार्य करती है. ये मान के चलिये की देश की अर्थव्यवस्था में इसका बहुत बड़ा हाथ है. सेबी से जुड़ी कुछ जरूरी जानकारी आप इस लेख में पढ़ पाएंगे.

सेबी क्या है? (What is SEBI?)

सेबी एक वैधानिक निकाय (Constitutional Body) है जिसकी स्थापना सेबी एक्ट 1992 (SEBI Act 1992) के द्वारा की गई है. सेबी का पूरा नाम Security and Exchange Board Of India है. इसे हिन्दी में “भारतीय प्रतिभूति और विनियम बोर्ड” (SEBI Full form) कहा जाता है. सेबी एक ऐसी संस्था है जो हमारे देश के शेयर मार्केट पर निगरानी रखने का काम करती है. सेबी के आने से पहले शेयर मार्केट में धोखाधड़ी करना आम बात हो गई थी और इसका सबसे फेमस उदाहरण हर्षत मेहता स्कैम है. इस स्कैम के बाद से ही सेबी को अस्तित्व में लाया गया.

शेयर बाजार में बढ़ते स्कैम के चलते एक ऐसी संस्था की मांग उठी जो ट्रेडर्स और निवहशकों की शिकायत सुने और धोखाधड़ी करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही करे या उन पर प्रतिबंध लगा सके. इसका सीधा सा मतलब है कि शेयर मार्केट को रेगुलेट करने वाली संस्था सेबी है जो शेयर मार्केट के निवेशकों और ट्रेडर्स पर पैनी नजर बनाए रखती है.

सेबी बोर्ड में कुल नौ सदस्य हैं. जिनमें एक अध्यक्ष होता है जिसे भारत सरकार द्वारा नियुक्त किया जाता है. दो सदस्य केन्द्रीय वित्त मंत्रालय से होते हैं, एक सदस्य आरबीआई से होता है और पाँच सदस्यों की नियुक्ति भारत सरकार करती है.

सेबी क्या काम करता है? (SEBI Works and Power)

सेबी के काम के बारे में आप कुछ हद तक तो जान गए होगे कि ये मुख्य तौर पर शेयर बाजार को रेगुलेट करता है लेकिन इसका काम म्यूचुअल फ़ंड को रेगुलेट करना है. लेकिन सेबी बीमा को रेगुलेट नहीं करता है. सेबी की कुछ शक्तियाँ हैं जो उसे शेयर बाजार रेगुलेट करने में मदद करती हैं.

– सेबी का मुख्य काम ट्रेडर्स और निवेशकों के हितों की रक्षा करना है. सेबी का लक्ष्य है कि किसी भी निवेशक के साथ धोखाधड़ी न हो.
– सेबी का काम शेयर बाजार के मूल्यों में उतार-चड़ाव को रोकना भी है क्योंकि इसकी वजह से निवेशकों को काफी नुकसान उठाना पड़ता है.
– सेबी इनसाइडर ट्रेडिंग पर भी नियंत्रण लगाने का कार्य करता है. यदि कोई भी ट्रेडर इनसाइडर ट्रेडिंग में लिप्त पाया जाता है तो उसे शेयर मार्केट से प्रतिबंधित सेबी कर सकता है.
– सेबी का काम शेयर मार्केट में सभी लेन-देन को सुचारु और सुरक्षित रूप से चलाना है.
– शेयर मार्केट में नई तकनीक का प्रयोग करना और शेयर मार्केट को सभी के लिए आसान बनाना.
– म्यूचुअल फ़ंड का पंजीकरण और विनियमन करना

सेबी के जरूरी फ़ैक्ट (Important facts from SEBI)

# सेबी की स्थापना (SEBI Establishment) : 12 अप्रैल 1992
# सेबी का मुख्यालय (SEBI Headquarter) : मुंबई
# सेबी के वर्तमान अध्यक्ष (SEBI Current Chairman) : अजय त्यागी
# सेबी के पहले अध्यक्ष (SEBI First Chairman) : जी वी रामकृष्ण
# सेबी बोर्ड के कुल सदस्य (SEBI Board Members) : अध्यक्ष को मिलकर कुल 9 सदस्य
# सेबी अध्यक्ष का कार्यकाल (SEBI Chairman Tenure) : 5 साल या 65 वर्ष जो भी पहले हो

सेबी में नौकरी कैसे मिलेगी? (How to get job in SEBI?)

सेबी क्या काम करता है ये तो आप समझ गए. अगर आपको इस तरह के काम में रुचि है और आप सेबी में नौकरी करना चाहते हैं तो सेबी हर साल या कुछ सालों के अंतराल में रिक्त पदों के लिए वेकेंसी जारी करता है. ये अलग-अलग पदों के लिए होती है लेकिन इन्हें आप इस लिंक (https://www.sebi.gov.in/sebiweb/about/AboutAction.do?doVacancies=yes) पर क्लिक करके चेक कर सकते हैं. इनकी जो भी योग्यता है उसे आप पूरा करके नौकरी के लिए अप्लाई कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें :

Share Market Investment: शेयर मार्केट में पैसा कैसे निवेश करें, जरूरी बातें?

Mutual Fund में निवेश को कितना सेफ मानते हैं शेयर मार्केट के एक्सपर्ट?

IPO क्या होता है? आईपीओ के फायदे क्या हैं? जानिए IPO में कैसे निवेश किया जाता है?

error: Content is protected !!