Graphic Designer Career : क्रिएटिव हैं तो बनें ग्राफिक डिज़ाइनर, अच्छी सैलरी के साथ मिलेगी पहचान

यदि आप क्रिएटिव हैं और चीजों को बेहतर तरीके से प्रिजेंट करना जानते हैं तो आप ग्राफिक डिज़ाइनर (Graphic Designer) बनकर अच्छा पैसा कमा सकते हैं. इसमें आप नौकरी भी कर सकते हैं और खुद का बिजनेस भी शुरू कर सकते हैं.

करियर को लेकर कई लोग चिंतित रहते हैं. कई लोगों को ऐसा भी लगता है कि अगर 10वी और 12वी में अच्छे मार्क्स नहीं आए तो वो जीवन में कुछ भी नहीं कर पाएंगे. लेकिन यदि आप क्रिएटिव हैं और चीजों को बेहतर तरीके से प्रिजेंट करना जानते हैं तो आप ग्राफिक डिज़ाइनर (Graphic Designer) बनकर अच्छा पैसा कमा सकते हैं. इसमें आप नौकरी भी कर सकते हैं और खुद का बिजनेस भी शुरू कर सकते हैं.

ग्राफिक डिज़ाइनर क्या होता है? (What are a Graphic Designer and its work?)

जब भी आप अखबार को देखते हैं तो उस पर आपको कुछ विज्ञापन नजर आते हैं, सोशल मीडिया पर भी फोटो के रूप में कई सारे विज्ञापन आपको नजर आते हैं, सड़कों पर बैनर के रूप में आपको कई सारे विज्ञापन नजर आते हैं. इस तरह के विज्ञापन को बनाने वाले व्यक्ति को ही ग्राफिक डिज़ाइनर कहा जाता है.

ग्राफिक डिज़ाइनर एक ऐसा व्यक्ति होता है जो क्लाईंट से उसकी डिटेल्स लेकर उस डीटेल को इस तरह प्रस्तुत करे कि उसे देखने वाला उसे अच्छी तरह समझ जाए. इसमें वो टेक्स्ट, फोटो और रंगों का प्रयोग करता है. ग्राफिक डिज़ाइनर के द्वारा बनाए गए विज्ञापन आमतौर पर एक फोटो के रूप में होते हैं यानी ये विडियो नहीं होते हैं.

ग्राफिक डिज़ाइनर कैसे बनें? (How to Become a Graphic Designer?)

ग्राफिक डिज़ाइनर बनने के लिए कोई खास क्राइटिरिया नहीं है. लेकिन फिर भी आपको ग्राफिक डिज़ाइनर बनने के लिए 12वी पास कर लेना चाहिए. 12वी आप चाहे तो पीसीएम, पीसीबी, कॉमर्स, आर्ट किसी के साथ भी कर सकते हैं. आप किसी भी विषय में 12वी करके ग्राफिक डिज़ाइनर बन सकते हैं. इसके बाद आपको ग्राफिक डिज़ाइनर से संबन्धित कोर्स करना होता है. आमतौर पर ग्राफिक डिज़ाइनिंग के लिए सर्टिफिकेट और डिप्लोमा कोर्स उपलब्ध हैं. लेकिन आप ग्राफिक डिज़ाइनिंग के अलावा डिज़ाइनिंग में और भी चीजे सीखना चाहते हैं तो इसमें ग्रेजुएशन भी कर सकते हैं.

ग्राफिक डिज़ाइनिंग के लिए बेस्ट कॉलेज (Best College for Graphic Designing)

1. Arena Animation
2. ZICA
3. MAAC
4. Frameboxx

ये सभी ऐसे इंस्टीट्यूट हैं जहां आप ग्राफिक डिज़ाइनिंग के लिए सर्टिफिकेट और डिप्लोमा कोर्स (Certificate and Diploma course for graphic designing) कर सकते हैं. इनके अलावा कुछ इंस्टीट्यूट आपके शहरों में भी होते हैं जो आपको ग्राफिक डिज़ाइनिंग का कोर्स ऑफर करते हैं.

अगर आप इस फील्ड में ग्रेजुएशन करना चाहते हैं तो आपको B. Des. (Bachelor of Design) करना होगा. इस कोर्स को करने के लिए आप नीचे दिये गए कॉलेज में से किसी एक को चुन सकते हैं.

1. National Institute of Design (NID) Ahmadabad
2. Industrial Design Centre (IDC) Bombay
3. NIFT, Delhi
4. MAEER’s MIT Institute of Design, Pune
5. Srishti School of Art Design and Technology (Bangalore, Pune, Trivandrum)
6. GD Goenka School of Fashion and Design (Mumbai)
7. Sir JJ Institute of Applied Art (Mumbai)

ग्राफिक डिज़ाइनिंग के सॉफ्टवेयर (Best Software for Graphic Designer)

ग्राफिक डिज़ाइनर जो भी क्रिएटिव काम करता है उसके लिए उसे सॉफ्टवेयर का उपयोग करना होता है. इसलिए ग्राफिक डिज़ाइनर के लिए सबसे ज्यादा जरूरी चीज सॉफ्टवेयर का ज्ञान होना है. कॉलेज में भी उन्हें सॉफ्टवेयर पर अच्छी कमांड कराई जाती है ताकि वे अपनी क्रिएटिविटी को स्क्रीन पर ला सकें. ग्राफिक डिज़ाइनिंग के लिए आपको नीचे दिये गए सॉफ्टवेयर सीखने होते हैं.

1. Adobe Photoshop
2. Adobe Illustrator
3. Adobe In design
4. Coral Draw

इन चारों का उपयोग ग्राफिक डिज़ाइनिंग के लिए सबसे ज्यादा आता है. अगर आपको ये चारो सॉफ्टवेयर आते हैं तो आप बैनर, विजिटिंग कार्ड, ब्रोचर हर तरह के प्रिंट के और सोशल मीडिया के लिए डिज़ाइन बना सकते हैं.

ग्राफिक डिज़ाइनर की सैलरी (Graphic Designer Salary)

ग्राफिक डिज़ाइनर आप बन तो जाएंगे लेकिन आपको ये भी जानना चाहिए कि इस फील्ड में सैलरी कितनी है. इस फील्ड में फ्रेशर के तौर पर हो सकता है आपकी शुरुवात 5 से 10 हजार रुपये प्रतिमाह वेतन से हो. लेकिन 3 से 4 साल काम करने के दौरान ही आपकी सैलरी 20 से 30 हजार रुपये या इससे भी ज्यादा हो जाएगी. आपकी सैलरी इस फील्ड में पूरी तरह आपकी क्रिएटिविटी पर निर्भर करती है. आप जितना क्रिएटिव काम करते हैं उतनी ही अच्छी आपको सैलरी मिलती है. इस फील्ड में यदि आप जाना चाह रहे हैं तो सैलरी की चिंता न करें. चिंता आप सिर्फ इस बात की करें कि आपको बहुत अच्छा काम करना आता हो. इसके बाद सैलरी आप अपने हिसाब से ले सकते हैं.

अगर आप ग्राफिक डिज़ाइनिंग में प्रिंटिंग वर्क ही सीख जाते हैं तो आप खुद का बिजनेस भी शुरू कर सकते हैं. आजकल हर शहर में प्रिंटिंग वर्क की काफी ज्यादा डिमांड है. ऐसे में आप पेपर से संबन्धित प्रिंटिंग, फ़्लेक्स प्रिंटिंग आदि कर सकते हैं. इसमें आपको सैलरी से भी ज्यादा पैसा मिल सकता है.

यह भी पढ़ें :

फैशन डिज़ाइनर कैसे बनें, फैशन डिज़ाइनिंग कोर्स एवं बेस्ट कॉलेज?

Fine Art Career : फ़ाइन आर्ट क्या है, फ़ाइन आर्ट में करियर कैसे बनाएं?

Interior Designer : 12वी के बाद इंटीरियर डिज़ाइनर कैसे बनें?

error: Content is protected !!