National Digital Health Mission क्या है, कैसे बनेगा Digital health card?

इस योजना के तहत भारत के हर नागरिक को 14 अंकों का एक Unique health ID दिया जाएगा जो आपके इलाज के दौरान काफी मददगार साबित होगा.

भारत को डिजिटल बनाने के उद्देश्य से भारत में कई सारी योजनाएँ केंद्र सरकार व राज्य सरकार की ओर से चलाई जा रही हैं. इनमें सबसे बड़ी योजना Ayushman Bharat Yojana है. इसी योजना को आगे बढ़ाते हुए भारत सरकार ने एक नई योजना शुरू की है जिसका नाम National Digital Health Mission है. इसके तहत भारतीय नागरिकों को कई तरह की स्वास्थ्य सुविधाएं मिलेगी. नेशनल डिजिटल हैल्थ मिशन क्या है? Digital Health Card कैसे बनवा सकते हैं? Unique Health ID कैसे काम करेगी? इन सभी बातों को जानना बेहद जरूरी है.

National Digital Health Mission क्या है? (PM Digital Health Scheme in Hindi)

यह भारत सरकार द्वारा हाल ही में लांच की गई एक बहुत विस्तृत योजना है. इस योजना की शुरुवात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त 2020 को की थी. तब इसे सिर्फ अंडमान निकोबार, चंडीगढ़, दादर नागर हवेली, दमनदीव, लद्दाख, लक्ष्यद्वीप में शुरू किया था. लेकिन अब इसे पूरे भारत के लिए लागू कर दिया गया है.

इस योजना के तहत भारत के हर नागरिक को 14 अंकों का एक Unique health ID दिया जाएगा. ये ठीक आधार नंबर की तरह रहेगा. जिस तरह आपका आधार कार्ड बना था उसी तरह आपका Digital health card बनेगा. इसका उपयोग आप तब कर पाएंगे जब आप कहीं इलाज कराने जाएंगे.

नेशनल डिजिटल हैल्थ मिशन के लाभ (PM Digital Health Mission Benefits)

इस योजना को इसलिए शुरू किया जा रहा है ताकि भारत के हर नागरिक के स्वस्थ्य की जानकारी को ऑनलाइन किया जा सके. जैसे किसी व्यक्ति ने कोई इलाज करवाया, उसमें दस तरह की जांच हुई. तो उसके इलाज और उन सभी टेस्ट रिपोर्ट्स की जानकारी डॉक्टर को इस पर अपलोड करनी होगी. इसके बाद जब आप अगली बार किसी और हॉस्पिटल में या किसी और डॉक्टर के पास जाएंगे तो वो आपका हैल्थ आईडी डालेगा और उसके स्वस्थ्य और इलाज से संबन्धित सारी जानकारी आ जाएगी. इस वजह से आपका इलाज जल्दी शुरू होगा और इलाज करवाने में जो खर्च लगता है वो भी कम हो जाएगा.

Digital Health Card कैसे बनेगा? (How to make PM Digital Health Card?)

केंद्र सरकार ने इतनी बड़ी डिजिटल योजना लांच की है तो आपके दिमाग में ये सवाल तो जरूर आ रहा होगा कि इसमें सबसे उपयोगी Digital Health Card या Indian Health Card कैसे बनेगा.

– Digital health Card बनाने के लिए आपको इनकी Official website https://healthid.ndhm.gov.in/ पर जाना होगा.

– यहाँ आपको Create your health ID now का ऑप्शन दिखाई देगा. उस पर क्लिक करे.

– इसके बाद आपको दो ऑप्शन दिये जाते हैं. आप अपने आधार नंबर से Health ID create कर सकते हैं या फिर फोन नंबर से. यदि आधार से करना चाहते हैं तो आपके आधार में मोबाइल नंबर लिंक होना चाहिए.

– हम आपको मोबाइल नंबर वाला तरीका बताते हैं. इसमें मोबाइल नंबर पर क्लिक करके अपना मोबाइल नंबर फिल करें.

– वेरिफिकेशन के लिए एक ओटीपी आएगा. उसे यहाँ दर्ज करें और आगे बढ़ें.

– अब एक छोटा सा फॉर्म ओपन होगा. जिसमें आपको अपनी पर्सनल डिटेल्स जैसे अपना नाम, सरनेम, जन्म तिथि, आधार नंबर, पता आदि.

– इन सभी को फिल करने के बाद Submit पर क्लिक करें.

– आपका Health ID Card Generate हो जाएगा. यदि आप इसमें फोटो लगाना चाहते हैं तो वहीं से फोटो भी लगा सकते हैं.

Health ID Card बन जाने के बाद आप इसे अपने डिजिटल वालेट में रख सकते हैं या फिर प्रिंट करवाकर एक कार्ड के रूप में अपने पर्स में या अपने साथ रख सकते हैं.

Digital Health ID कैसे काम करेगी? (How Indian health id works?)

Digital Health Card के बारे में आपने कई सारी बातें जान ली, चलिये अब जानते हैं कि Digital health ID कैसे काम करेगी?

Digital Health Card बन जाने पर आपको 14 अंकों की एक आईडी मिल जाएगी जैसी आधार कार्ड में होती है. इसी आईडी के आधार पर सारे कार्य किए जाएंगे. अब स्कीम लांच होने के बाद आप किसी हॉस्पिटल या डिस्पेन्सरी में जांच के लिए जाते हैं तो वहाँ आपसे इस 14 अंक के कोड को मांगा जाएगा और आपकी सारी जांच और ट्रीटमेंट को इस आईडी से लिंक कर दिया जाएगा. मतलब आपका सारा डाटा आपकी उस आईडी पर सेव कर दिया जाएगा.

इसमें मेडिकल रिकॉर्ड से जुड़ी हर चीज सेव रहेगी. जैसे आपने कौन-कौन सी जांच करवाई, उनकी क्या रिपोर्ट आई, डॉक्टर ने क्या ट्रीटमेंट किया, आपको कौन-कौन सी दवाई दी, इन दवाइयों का आप पर पैसा असर हुआ. ये सारी जानकारी उसमें दर्ज रहेगा.

डिजिटल हैल्थ मिशन एक काफी बढ़िया योजना है. इससे अलग-अलग हॉस्पिटल में बार-बार जांच करवाने झंझट खत्म हो सकता है. इसमें आपकी बीमारी की सारी जानकारी ऑनलाइन रहेगी तो डॉक्टर को ये समझने में देर नहीं लगेगी कि अभी तक आपकी मेडिकल कंडीशन कैसी थी और वे तुरंत इलाज शुरू कर सकेंगे.

यह भी पढ़ें :

फ्री इलाज के लिए कैसे बनवाएं आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड?

Ayushman Bharat scheme: फायदेमंद है प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना

Ayushman Bharat health scheme: कौन है पीएमजेई का असली हकदार?

error: Content is protected !!