Online FIR : ऑनलाइन एफ़आईआर करने का तरीका

आज के समय में पूरी दुनिया ऑनलाइन हो रही है. ऐसे में पुलिस ने भी अपना कई सारा काम ऑनलाइन कर दिया है. पुलिस डिपार्टमेंट (police department work) के कई काम अब ऑनलाइन होते हैं. इन्हीं कामों में से एक है FIR दर्ज (FIR register) करवाना जिसकी कभी न कभी हर व्यक्ति को जरूरत पड़ती है. वैसे आपको छोटे-छोटे कामों के लिए भी थाने जाकर एफ़आईआर दर्ज करवानी पड़ती है लेकिन आप ऑनलाइन एफ़आईआर (online FIR) भी दर्ज करवा सकते हैं.

आज के समय में पूरी दुनिया ऑनलाइन हो रही है. ऐसे में पुलिस ने भी अपना कई सारा काम ऑनलाइन कर दिया है. पुलिस डिपार्टमेंट (police department work) के कई काम अब ऑनलाइन होते हैं. इन्हीं कामों में से एक है FIR दर्ज (FIR register) करवाना जिसकी कभी न कभी हर व्यक्ति को जरूरत पड़ती है. वैसे आपको छोटे-छोटे कामों के लिए भी थाने जाकर एफ़आईआर दर्ज करवानी पड़ती है लेकिन आप ऑनलाइन एफ़आईआर (online FIR) भी दर्ज करवा सकते हैं.

ऑनलाइन एफ़आईआर सुविधा

जब भी हमें एफ़आईआर (FIR register) लिखवानी होती है तो हमें पुलिस स्टेशन जाना होता है. बैठकर इंतज़ार करना होता है, इसके बाद पुलिस के ढेर सारे सवालों के जवाब देना होते हैं. तब जाकर कहीं हमारी एफ़आईआर लिख पाती है. लेकिन अब आप इन सभी झंझटों से बच सकते हैं “ऑनलाइन एफ़आईआर” (online FIR) के माध्यम से.

ऑनलाइन एफ़आईआर किस चीज की कर सकते हैं?

अगर आपको ऑनलाइन एफ़आईआर लिखवानी है तो आपको ये पता होना चाहिए की ऑनलाइन एफ़आईआर (online fir cases) किस लिए लिखी जाती है और किन घटनाओं के लिए लिखी जाती है. दरअसल ऑनलाइन एफ़आईआर आप किसी भी खोई हुई चीज जैसे ड्राइविंग लाइसेन्स, मोबाइल सिम, पासपोर्ट, आदि के चोरी हो जाने या गुम हो जाने पर लिखवा सकते हैं. इसके अलावा आप ऑनलाइन एफ़आईआर का उपयोग निम्न स्थितियों में भी कर सकते हैं.

– खोये हुए सामान के लिए
– अपनी पहचान का खुलासा किए बिना संदिग्ध गतिविधियों के बारे में जानकारी देने के लिए
– गुमशुदा व्यक्ति के बारे में जानकारी देने के लिए
– वाहन चोरी होने पर

ऑनलाइन एफ़आईआर कैसे दर्ज कराएं?

ऑनलाइन एफ़आईआर दर्ज (how to do online FIR) करवाने के लिए आपको अपने राज्य की पुलिस वेबसाइट (police website) पर जाना होगा. यहाँ जाकर आप निम्न प्रोसैस फॉलो करके ऑनलाइन एफ़आईआर दर्ज करवा सकते हैं.
– सबसे पहले अपने राज्य की पुलिस वेबसाइट को ओपन करें. जैसे मध्य प्रदेश पुलिस की वेबसाइट citizen.mppolice.gov.in है.
– अब आपको उस वेबसाइट में ‘नागरिक सेवा’ या ‘शिकायत नाम’ का विकल्प ढूँढना है. ये हर राज्य की वेबसाइट पर अलग-अलग जगह पर होता है.
– इसके बाद आपको अपना एक अकाउंट बनाना होता है अगर आप इसे पहली बार उपयोग कर रहे हैं तो. यहाँ अपने मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी की मदद से अपना अकाउंट बनाएँ और आगे बढ़ें.
– अब आपको FIR पंजीकरण पेज को ओपन करना है.
– इस पेज पर आपको एक फॉर्म दिखेगा. इस फॉर्म में आपसे जो भी जानकारी मांगी जा रही है उस जानकारी को आपको सही-सही भरना है. इसमें आपसे आपका नाम, घटना की जानकारी के बारे में पूछा जाएगा.
– इसके बाद सबमिट पर क्लिक करें. आपके फोन पर एक वेरिफिकेशन कोड आएगा जिसकी मदद से आप रिपोर्ट सबमिट हो जाने पर अपनी एफ़आईआर की ऑनलाइन कॉपी निकाल पाएंगे.

इस तरह आप अपने घर पर बैठे-बैठे ऑनलाइन एफ़आईआर दर्ज करवा सकते हैं. लेकिन ध्यान रहें की ये मर्डर, चोरी, लूटपाट जैसे घटनाओं के लिए नहीं लिखी जाती. ये आपके पर्स, मोबाइल, आदि की चोरी के लिए लिखी जाती है. इस सुविधा को इसलिए चलाया गया है ताकि आपको बार-बार पुलिस स्टेशन के चक्कर न लगाना पड़े. क्योंकि आजकल आए दिन ये चीजें चोरी हो जाती है. ऐसे में पुलिस का काम भी बढ़ जाता है. इसलिए आप ऑनलाइन एफ़आईआर दर्ज करें और पुलिस स्टेशन जाने से बचें.

यह भी पढ़ें :

Morse Code : मोर्स कोड क्या होता है, मोर्स कोड कैसे सीखें ?

USSD Code : यूएसएसडी कोड क्या होते हैं, USSD code कैसे इस्तेमाल किए जाते हैं?

Withdraw money without atm : बिना एटीएम कार्ड के एटीएम से पैसा कैसे निकालें?

error: Content is protected !!