पॉलिटेक्निक (Polytechnic) कोर्स : दसवी के बाद दिलाएगा फटाफट जॉब

जब फिल्म थ्री इडियट आई थी तो कई लोगों में Engineering करने का क्रेज हो गया था लेकिन इंजीनियरिंग करने में कई साल और कई सारा पैसा लगता है। इसके बाद भी नौकरी लगे न लगे इसकी कोई गॉरंटी नहीं। ऐसे में पॉलिटेक्निक (Polytechnic Course) एक ऐसा कोर्स है जिसकी मदद से आप कम पैसे और कम समय में एक अच्छी Job पा सकते हैं। हम आपको इसी कोर्स के बारे में यहां बताने वाले हैं।

2 783

जब फिल्म थ्री इडियट आई थी तो कई लोगों में Engineering करने का क्रेज हो गया था लेकिन इंजीनियरिंग करने में कई साल और कई सारा पैसा लगता है। इसके बाद भी नौकरी लगे न लगे इसकी कोई गॉरंटी नहीं। ऐसे में पॉलिटेक्निक (Polytechnic Course) एक ऐसा कोर्स है जिसकी मदद से आप कम पैसे और कम समय में एक अच्छी Job पा सकते हैं। हम आपको इसी कोर्स के बारे में यहां बताने वाले हैं।

क्या है पॉलिटेक्निक कोर्स (What is Polytechnic Course)

पॉलिटेक्निक कोर्स (Polytechnic Course) इंजीनियरिंग की तरह ही है। इंजीनियरिंग एक डिग्री कोर्स है और पॉलिटेक्नीक एक डिप्लोमा कोर्स है। पॉलिटेक्नीक कोर्स करने में इंजीनियरिंग के मुकाबले कम पैसा और समय लगता है। पॉलिटेक्नीक में इंजीनियरिंग की तरह ही कई सारी ब्रांच होती है जिसमें से आप जिस सब्जेक्ट में रूचि रखते हैं उसे चुन सकते हैं। वहीं इसमें एक फायदा और होता है कि आप इस डिप्लोमा को पूरा करके डायरेक्ट इंजीनियरिंग के दूसरे साल में एडमिशन ले सकते हैं।

पॉलिटेक्निक कोर्स के लिए योग्यता (Eligibility Criteria for Polytechnic Course)

– पॉलिटेक्निक कोर्स करने के लिए उम्मीदवार का 10वी या 12वी पास होना जरूरी है।
– पॉलिटेक्निक कॉलेज में एडमिशन के लिए आपको इंजीनियरिंग की तरह ही एक टेस्ट PPT (Pre Polytechnic Test) देना होता है। जिसके अंकों के आधार पर आपको सरकारी कॉलेज (Government Polytechnic College) मिलता है।
– कई प्राइवेट कॉलेज में आप सीधे बिना एग्जाम के भी एडमिशन पा सकते हैं। आज देश में कई निजी कॉलेज (Private Polytechnic College) इस कोर्स को चला रहे हैं।
– पॉलिटेक्निक में एडमिशन के लिए होने वाली एग्जाम हर राज्य में अलग-अलग होती है जिसके नाम भी अलग-अलग होते हैं।
– पॉलिटेक्निक में एडमिशन के लिए होने वाली एग्जाम में आप जितने ज़्यादा मार्क्स लाएंगे आपको उतना अच्छा कॉलेज मिलेगा और आपकी फीस भी कम लगेगी।

पॉलिटेक्निक कोर्स के फायदे (Benefits of Polytechnic Course)

– पॉलिटेक्निक कोर्स करने का पहला फायदा है कि ये आप दसवी से ही कर सकते हैं। यानि जैसे ही आपने दसवी पास की वैसे ही आप इसके कॉलेज में एडमिशन ले सकते हैं। आपको बता दें कि कई पॉलिटेक्निक कोर्स में बारहवी पास होना जरूरी है।
-इन कोर्स में आपको जो भी सिखाया जाता है वो प्रैक्टिकल तरीके से सिखाया जाता है जिससे आपकी नॉलेज काफी अच्छी और प्रैक्टिकल होती है।
– पॉलिटेक्निक के कोर्स को करने के बाद आपकी नौकरी लगने की संभावनाएं काफी ज़्यादा बढ़ जाती है क्योंकि इस कोर्स को करने के बाद नौकरी का ज़्यादा इंतजार नहीं करना पड़ता है।
– इस कोर्स को पूरा करने के बाद आप सीधे इंजीनियरिंग के दूसरे साल में एडमिशन ले सकते हैं।
– देश में निकलने वाली कई सारी सरकारी नौकरियों (Government Jobs) जैसे रेल्वे, एसएससी में पॉलिटेक्निक डिप्लोमा वालों को आसानी से नौकरी मिल जाती है।

पॉलिटेक्निक में कैसे लें एडमिशन (How to admission in Polytechnic Course)

– पॉलिटेक्निक में एडमिशन लेने के लिए आप दसवी में साइंस, मैथ्स और इंग्लिश अच्छे से पढ़ें क्योंकि इन्हीं से प्रश्न इंट्रेंस एग्जाम में पूछे जाते हैं। अगर आपकी इन सब्जेक्ट पर पकड़ अच्छी होगी तो आप इंट्रेंस एग्जाम में अच्छे मार्क्स ला पाएंगे।
– दसवी पास होते ही आप पॉलिटेक्निक की इंट्रेंस एग्जाम के लिए अप्लाई करें। ये हर स्टेट के लिए अलग होती है तो नज़र रखें कि आपकी स्टेट में ये कब होगी। एग्जाम में अच्छे मार्क्स लाने की कोशिश करें जिससे आपका एडमिशन सरकारी कॉलेज में हो सके।
– एग्जाम देने के बाद इस कोर्स के लिए काउंसलिंग होती है। काउंसलिंग में आपको कॉलेज और आपकी ब्रांच चुनना होती है। ये पूर्णतः ऑनलाइन होती है। यहां आपकी रैंक के हिसाब से यानि आपके मार्क्स के हिसाब से आपको कॉलेज और ब्रांच बताई जाती है जिन्हें आपको चुनना होता है।
– पॉलिटेक्निक में एडमिशन होने के बाद इसकी 3 साल की पढ़ाई होती है। जहां आपको प्रैक्टिकली आपकी फील्ड का नॉलेज दिया जाता है। ध्यान रखें पढ़ाई के साथ-साथ कहीं न कहीं इंटर्नशिप भी करें जिससे कॉलेज खत्म होने के बाद आपको तुरंत नौकरी मिल जाए।

पॉलिटेक्निक कोर्स में कई बेहतर संभावनाएं हैं जो अन्य कोर्स में नहीं हैं। अगर आप अपनी लाइफ में जल्दी ही पैसा कमाना चाहते हैं तो इस कोर्स को जरूर करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!