UP Election 2022 : प्रियंका गांधी ही नहीं ये 10 महिलाएं भी हैं UP की दमदार राजनेता

उत्तर प्रदेश से 10 ऐसी महिला पॉलिटिशन हैं जिनहोने अपने काम के बलबूते पर जनता के दिलों में जगह बनाई है और भारी मतों से विजयी हुई हैं.

उत्तरप्रदेश में चुनाव को लेकर सियासी हलचल हो रही है. काँग्रेस की ओर से प्रियंका गांधी यूपी में प्रमुख चेहरा है. लेकिन इनके अलावा भी कई महिला राजनेता ऐसी हैं जो उत्तर प्रदेश से ही हैं और काफी प्रभावशाली हैं. यहाँ 10 ऐसी महिला पॉलिटिशन हैं जिनहोने अपने काम के बलबूते पर जनता के दिलों में जगह बनाई है और भारी मतों से विजयी हुई हैं.

1) प्रियंका गांधी

प्रियंका गांधी अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की राष्ट्रीय महासचिव हैं. उत्तर प्रदेश चुनाव 2022 में कांग्रेस की बागडोर इन्हीं की हाथों में है. साल 2017 में हुए उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में इनहोने अमेठी और रायबरेली की सीटों पर कांग्रेस को जीताने के लिए काफी मेहनत की थी. इस वर्ष भी हो रहे चुनाव में प्रियंका गांधी का कांग्रेस के लिए महत्वपूर्ण योगदान है.

2) मायावती

उत्तरप्रदेश की राजनीति में मायावती का भी महत्वपूर्ण योगदान है. वे प्रथम भारतीय दलित महिला हैं जो उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री रह चुकी हैं. वे बहुजन समाज पार्टी से हैं और इस वर्ष उन्होने चुनाव न लड़ने के बारे में कहा है. लेकिन उत्तरप्रदेश की सभी सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारने के बारे में कहा है. उत्तरप्रदेश की राजनीति में इनका काफी प्रभाव है.

3) डिम्पल यादव

उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की पत्नी डिम्पल यादव भी राजनीति में अपना वर्चस्व जमाए हुए है. डिम्पल यूपी में महिला सांसद के रूप में जानी जाती हैं. डिम्पल ने जब पहली बार चुनाव लड़ा था तो वे चुनाव हार गई थीं . इसके बाद डिम्पल ने कन्नौज सीट पर लोकसभा चुनाव लड़ा तो वे जीत गई. वे सपा पार्टी से संबन्धित हैं.

4) स्वाती सिंह

स्वाती सिंह उत्तरप्रदेश में बीजेपी की एक प्रमुख विधायक हैं. इसके अलावा ये वर्तमान में महिला एवं बाल विकास मंत्री भी हैं. साल 2017 में इनहोने लखनऊ के सरोजनी नगर की सीट से बीजेपी की ओर से चुनाव लड़ा था जिसमें ये जीत गई थी. साल 2022 में हो रहे चुनाव में भी बीजेपी को इनसे काफी ज्यादा उम्मीद है.

5) अनुप्रिया पटेल

अनुप्रिया पटेल मोदी सरकार की सबसे तेज तर्रार युवा मंत्री हैं. यूपी सरकार में वे स्वास्थ एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री हैं. इनहोने यूपी की मिर्जापुर सीट से चुनाव लड़ा था जिसमें इन्हें जीत हासिल हुई थी. ये बीजेपी को सपोर्ट करती हैं लेकिन इनकी पार्टी अपना दल है.

6) मेनका गांधी

मेनका गांधी एक बीजेपी की ओर से लोकसभा सदस्य हैं. ये अभी तक चार बार मंत्री बन चुकी हैं. इनहोने साल 2019 में उत्तरप्रदेश की सुल्तानपुर सीट से चुनाव लड़ा था जिसमें ये जीत गई. ये महिला एवं बाल विकास मंत्री रह चुकी हैं.

7) अदिति सिंह

अदिति सिंह उत्तरप्रदेश विधानसभा की सदस्य है और बीजेपी पार्टी से संबन्धित हैं. इनका विधानसभा क्षेत्र रायबरेली है. ये उत्तरप्रदेश की 17वी विधानसभा में सबसे युवा सदस्य थीं. इनका भी यूपी की राजनीति में काफी दबदबा है.

8) रीती बहुगुणा जोशी

रीति बहुगुणा जोशी पहले कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष हुआ करती थीं. लेकिन अब वह कांग्रेस का हाथ छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गई हैं. वे वर्तमान में लोकसभा सांसद हैं. और इनकी सीट इलाहाबाद है.

9) साध्वी निरंजन ज्योति

साध्वी निरंजन ज्योति बीजेपी की पार्टी से संबन्धित हैं. साल 2014 के आम चुनाव में उन्होने बीजेपी के लिए फतेहपुर सीट से चुनाव लड़ा था. इससे पहले 2012 के विधानसभा चुनाव में उन्होने हमीरपुर सीट से चुनाव लड़ा था. वे मोदी सरकार के अंतर्गत ग्रामीण विकास मंत्री रह चुकी हैं.

10) स्मृति ईरानी

स्मृति ईरानी पहले एक एक्ट्रेस हुआ करती थी. साल 2003 में उन्होने बीजेपी को जॉइन किया. साल 2014 में हुए आम चुनाव में उन्होने अमेठी सीट से बीजेपी के लिए चुनाव लड़ा था. उनके विरुद्ध राहुल गांधी खड़े हुए थे. इस चुनाव में स्मृति ईरानी हार गई थीं. साल 2014 से 2016 तक उन्होने यूनियन मिनिस्टर के पद पर कार्य किया. साल 2019 में वे फिर से राहुल गांधी के विरुद्ध अमेठी सीट पर खड़ी हुई और इस बार उन्होने एतिहासिक जीत दर्ज की.

यह भी पढ़ें :

UP Election 2022: कौन हैं बीजेपी को छोड़ने वाले स्वामी प्रसाद मौर्य?

एसपीजी कमांडो से लेकर हाईटेक कार तक, ऐसे होती है पीएम की सुरक्षा

Voter ID Card के बिना, इन 10 Documents से भी डाल सकते हैं वोट

error: Content is protected !!