Bike Parcel in Train : ट्रेन द्वारा मोटरसाइकल कैसे भेजी जाती है ?

बाइक तो सभी के पास होती है और उसे चलना भी लगभग सभी जानते हैं. बाइक राइडिंग करना बाइक लवर को काफी अच्छा लगता है लेकिन जब बात एक राज्य से दूसरे राज्य में जाने की होती है या फिर लंबी दूरी तक बाइक को ले जाने की होती है तो बाइक ले जाना जोखिम भरा होता है. ऐसे में आप लंबी दूरी के लिए ट्रेन का प्रयोग कर सकते हैं (How can I parcel my bike by train?). बाइक को ट्रेन से कैसे ले जाते हैं (Bike parcel in train)? इसके क्या नियम ये सारी जानकारी आप इस लेख में पढ़ेंगे.

0 497

बाइक तो सभी के पास होती है और उसे चलना भी लगभग सभी जानते हैं. बाइक राइडिंग करना बाइक लवर को काफी अच्छा लगता है लेकिन जब बात एक राज्य से दूसरे राज्य में जाने की होती है या फिर लंबी दूरी तक बाइक को ले जाने की होती है तो बाइक ले जाना जोखिम भरा होता है. ऐसे में आप लंबी दूरी के लिए ट्रेन का प्रयोग कर सकते हैं (How can I parcel my bike by train?). बाइक को ट्रेन से कैसे ले जाते हैं (Bike parcel in train)? इसके क्या नियम ये सारी जानकारी आप इस लेख में पढ़ेंगे.

जब भी आप रेल्वे स्टेशन या फिर जहां से सामान जाता है वहां गए होंगे वह आपने देखा होगा की कई बार बाइक को पैक करके भेजा जाता है. कई लोग बाइक को ट्रेन के द्वारा भेजते हैं. लेकिन ट्रेन से मोटरसाइकल को कैसे भेजा जाता है ये बात कम ही लोग जानते हैं.

सम्बंधित लेख - पढ़िए

बाइक को ट्रेन से कैसे भेजें? (How to parcel bike in train?)

बाइक को ट्रेन से भेजना या ट्रेन से बाइक पार्सल करना काफी आसान है. इसके लिए बस आपके पास कुछ जरूरी डॉकयुमेंट (Document for bike parcel in train) होना चाहिए. इन्हीं की मदद से रेल्वे बाइक पार्सल बुक किया जाता है. रेल्वे बाइक पार्सल दो तरीकों से किया जाता है.

1) आप चाहें तो बाइक को सिर्फ पार्सल के रूप में भेज सकते हैं. इस प्रक्रिया में आपको बाइक के साथ जाने की जरूरत नहीं होती. आपको बस अपने शहर के रेल्वे स्टेशन से बाइक पार्सल की बुकिंग करना है और दूसरे शहर में आपका जानने वाला उस पार्सल को रेल्वे स्टेशन से ले लेगा.

2) दूसरे तरीके में आप बाइक के साथ जाते हैं. आपको ट्रेन में पहले तो टिकट बुक करवानी पड़ती है उसके बाद आपको उस टिकट के जरिये बाइक पार्सल बुक करवाना पड़ता है. आपको ट्रेन में यात्रा करनी पड़ेगी और आप जहां उतरेंगे वहां आप बाइक को उतरवा कर अपने साथ ले जा सकते हैं.

रेल्वे बाइक पार्सल नियम क्या है? (How can I book my bike in train online?)

अपनी बाइक को किसी अन्य शहर में ट्रेन द्वारा भेजने के लिए आपको खुद रेल्वे के लगेज डिपार्टमेन्ट में जाकर बुकिंग करवानी पड़ती है. ध्यान रहे की जब भी आपको बाइक भेजनी हो उस से थोड़े दिन पहले इस पार्सल की बुकिंग करवाए. आपको इसकी बुकिंग पहले करवानी पड़ती है. ये बुकिंग आपको ऑफिस टाइमिंग पर ही करवानी पड़ेगी (सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक).

रेल द्वारा बाइक भेजने के लिए जरूरी दस्तावेज़ (Railway parcel delivery rules)

बाइक को रेल द्वारा भेजने के लिए आपको कुछ जरूरी डॉकयुमेंट वहां अधिकारी को बताने होते हैं. इनमे आपको बाइक का रजिस्ट्रेशन कार्ड, बीमा आदि आपको ऑफिसर को बताने होते हैं. इसके अलावा अगर कोई व्यक्ति यात्री के तौर पर जाने वाला है तो उसका टिकट भी मांगा जाता है.

आपकी बाइक जब यहाँ से भेजी जाती है उससे पहले आपकी बाइक की सारी डीटेल ली जाती है. जिसमें आपकी बाइक की वैल्यू, चेसिस नंबर, इंजिन नंबर, रजिस्ट्रेशन नंबर नोट करवाया जाता हैं. इसके अलावा आपका आईडी प्रूफ, ओरिजिनल स्टेशन, डेस्टिनेशन स्टेशन, भेजने और लेने वाले का पता भी नोट किया जाता है.

ट्रेन द्वारा बाइक भेजने की प्रक्रिया (What is the procedure to parcel bike in train?)

ट्रेन द्वारा बाइक भेजने की प्रक्रिया में आपसे बाइक लेकर पहले पैक की जाती है. बाइक की पैकिंग करवाने से पहले ध्यान रखें की आपकी बाइक के क्लच, ब्रेक आदि ढीले हो जिससे बाइक को जब ट्रेन पर ले जाया जाए तो उसमें कोई नुकसान ना हो. बाइक की पेकिंग की जानकारी आपको वहां के अधिकारी द्वारा दे दी जाती है.

बाइक के लिए रेल्वे पार्सल शुल्क (Bike parcel in train fees)

बाइक की पैकिंग हो जाने के बाद उस पार्सल पर मार्किंग की जाती है. साथ ही आपसे पार्सल का चार्ज भी लिया जाता है जो आपकी भेजी गई दूरी पर निर्भर करता है. इस मार्किंग के बाद आपको पेपर दिया जाता है जो इस बात का सबूत होता है की आपने रेल द्वारा बाइक पार्सल की है. यही पेपर आपको डेस्टिनेशन स्टेशन पर बाइक रिसिव करते समय दिखाना होता है. इस तरह आप अपनी बाइक को ट्रेन के द्वारा पार्सल कर सकते हैं.