Diwali Puja Vidhi : दिवाली पर लक्ष्मी पूजन कैसे करें, लक्ष्मी जी की कैसी मूर्ति शुभ होती है?

हिन्दू धर्म में दिवाली (Diwali) एक महत्वपूर्ण त्योहार है. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन भगवान श्री राम 14 साल के वनवास के बाद रावण का वध करके वापस अयोध्या आए थे और उनके आगमन पर पूरी अयोध्या में दीप जलाए गए थे और उत्सव मनाया गया था. तभी से दिवाली मनाई जा रही है. वैसे दिवाली सिर्फ भगवान राम के वनवास से वापस आने का त्योहार नहीं है बल्कि धन की देवी माँ लक्ष्मी की पूजा का भी है. इस दिन आपको सच्चे मन के साथ माँ लक्ष्मी की पूजा करनी चाहिए ताकि माँ लक्ष्मी की कृपा आपके ऊपर साल भर रहे.

0 17

हिन्दू धर्म में दिवाली (Diwali) एक महत्वपूर्ण त्योहार है. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन भगवान श्री राम 14 साल के वनवास के बाद रावण का वध करके वापस अयोध्या आए थे और उनके आगमन पर पूरी अयोध्या में दीप जलाए गए थे और उत्सव मनाया गया था. तभी से दिवाली मनाई जा रही है. वैसे दिवाली सिर्फ भगवान राम के वनवास से वापस आने का त्योहार नहीं है बल्कि धन की देवी माँ लक्ष्मी की पूजा का भी है. इस दिन आपको सच्चे मन के साथ माँ लक्ष्मी की पूजा करनी चाहिए ताकि माँ लक्ष्मी की कृपा आपके ऊपर साल भर रहे.

दिवाली पर लक्ष्मी पूजन (Lakshmi pooja at home)

दिवाली पर हम सभी माता लक्ष्मी की पूजा करते हैं. कोई तस्वीर लाकर करता है तो कोई इनकी मूर्ति की पूजा करता है. लेकिन माँ लक्ष्मी की पूजा करने का सही तरीका क्या है इस बारे में काफी कम लोग ही जानते हैं. अगर आप सही तरीके से माँ लक्ष्मी की पूजा करते हैं तो माँ लक्ष्मी आप पर प्रसन्न होती है और आपके घर में धन और सुख शांति रखती है.जहां माँ लक्ष्मी का वास होता है वहाँ पर गरीबी का वास नहीं होता है.

दिवाली के लिए माँ लक्ष्मी की मूर्ति कैसी हो? (Laxmiji ki murti kaisi banwaye?)

दिवाली पर माँ लक्ष्मी की पूजा हम सभी करते हैं लेकिन ये नहीं जानते की माँ लक्ष्मी की मूर्ति किस तरह की होनी चाहिए ताकि माँ लक्ष्मी हम पर प्रसन्न रहे. माँ लक्ष्मी की मूर्ति यदि आप घर में ला रहे हैं तो वो सोने या फिर चाँदी की होनी चाहिए. जिस घर में सोने या चाँदी की माँ लक्ष्मी की मूर्ति होती है वहाँ इनकी कृपा हमेशा रहती है. इनकी मूर्ति लाकर व्यक्ति को रोज नियम और विधि-विधान से इनकी पूजा करनी चाहिए.

माँ लक्ष्मी की मूर्ति कैसी होनी चाहिए? (Goddess laxmi statue information)

माँ लक्ष्मी की मूर्ति लाने से पहले या बनवाने से पहले आपको कुछ चीजों पर जरूर ध्यान देना चाहिए ताकि माँ लक्ष्मी आपको शुभ फल दें.
– माँ लक्ष्मी कमाल पर विराजित होना चाहिए.
– माँ लक्ष्मी की मूर्ति के हाथ में धन का कलश, कमल का फूल, शंख और एक हाथ आशीर्वाद देते हुए होना चाहिए.
– माँ लक्ष्मी की मूर्ति आपके हाथ के अंगूठे से बड़ी नहीं होना चाहिए.
– माँ लक्ष्मी की मूर्ति के साथ यदि आप गणेशजी की मूर्ति भी स्थापित करते हैं तो और भी अच्छा रहता है.
– आपको घर के मंदिर में माँ लक्ष्मी की मूर्ति के साथ श्री यंत्र की स्थापना भी करना चाहिए.

दिवाली पूजन कैसे करें? (lakshmi puja vidhi at home)

दिवाली सालभर में एक बार आती है और ये काफी महत्वपूर्ण होती है इसलिए इसकी पूजा (Diwali puja vidhi) भी काफी ज्यादा महत्वपूर्ण होती है.

– सुबह स्नान करें और स्वच्छ वस्त्र धारण करें.
– दिन भर उपवास रखें. (श्रद्धा के अनुसार)
– दिन में पकवान बनाए और अच्छी तरह घर को सजाएं.
– शाम को फिर से स्नान करें.
– लक्ष्मी पूजन रात के 12 बजे करना शुभ माना जाता है लेकिन आप उस दिन के शुभ मुहूर्त के हिसाब से अपनी पूजा कर सकते हैं.
– अपने घर को अच्छे से साफ करें और माँ लक्ष्मी जी फोटो लगाएं या फिर उनकी मूर्ति रखें.
– लक्ष्मीजी की तस्वीर के सामने एक चौकी रखकर उस पर एक मौली बाँधें और उसपर गणेशजी की मिट्टी की मूर्ति की स्थापना करें.
– इसके बाद गणेशजी को तिलक लगाएं.
– चौकी पर 6 चार मुह वाले दीपक और 20 छोटे दीपक रखकर तेल-बत्ती डालकर जलाएं.
– इसके बाद माँ लक्ष्मी को जल, मौली, चावल, फल, गुड, अबीर, गुलाल, धूप आदि चड़ाकर उनका विधिवत पूजन करें.
– माँ लक्ष्मी जी को भोग स्वरूप मिठाई और घर में बनाए गए पकवान रखें.
– माँ लक्ष्मी की और गणेश जी की आरती करें.
– इसके बाद सभी दीपकों को घर के कोनों में जलाकर रखें.
– एक छोटा सा चार मुह वाला दीपक रखकर माँ लक्ष्मीजी का पूजन करें.
– इसके बाद तिजोरी में गणेशजी और लक्ष्मी जी की मूर्ति रखकर विधिवत पूजन करें.
– पूजन और आरती के बाद आप अपने घर के लोगों के साथ दिवाली मनाएं.

यह भी पढ़ें :

Naraka Chaturdashi : नरक चौदस व रूप चौदस की कथा, पूजन विधि व महत्व

Dhanteras : धनतेरस पर धन प्राप्ति के उपाय क्या है?

Dhanteras Shopping : धनतेरस पर क्या खरीदें और क्या न खरीदें?

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!