Demand draft : डिमांड ड्राफ्ट क्या होता है, कैसे बनवाया जाता है, डीडी चार्ज और वैधता

किसी भी व्यक्ति को पेमेंट करने के लिए हम झट से अपने मोबाइल से ऑनलाइन पेमेंट कर देते हैं लेकिन कई बार आपको कहा जाता है की पेमेंट डीडी यानि डिमांड ड्राफ्ट (demand draft) के माध्यम से करें. डिमांड ड्राफ्ट क्या होता है? (what is demand draft?)डिमांड ड्राफ्ट के माध्यम से पेमेंट करने के लिए क्यों कहा जाता है? ये सारे सवाल आपके दिमाग में आते होंगे. डिमांड ड्राफ्ट को समझना और इसे उपयोग करना काफी आसान है. इसे उपयोग करने से पहले आपको ये पता होना चाहिए की डिमांड ड्राफ्ट क्या होता है?

1 83

किसी भी व्यक्ति को पेमेंट करने के लिए हम झट से अपने मोबाइल से ऑनलाइन पेमेंट कर देते हैं लेकिन कई बार आपको कहा जाता है की पेमेंट डीडी यानि डिमांड ड्राफ्ट (demand draft) के माध्यम से करें. डिमांड ड्राफ्ट क्या होता है? (what is demand draft?)डिमांड ड्राफ्ट के माध्यम से पेमेंट करने के लिए क्यों कहा जाता है? ये सारे सवाल आपके दिमाग में आते होंगे. डिमांड ड्राफ्ट को समझना और इसे उपयोग करना काफी आसान है. इसे उपयोग करने से पहले आपको ये पता होना चाहिए की डिमांड ड्राफ्ट क्या होता है?

डिमांड ड्राफ्ट क्या होता है?

डिमांड ड्राफ्ट (demand draft) पेमेंट करने का एक माध्यम है. जिस तरह आप चेक या ऑनलाइन मोड से पेमेंट करते हैं ठीक उसी तरह. कई लोग इसे चेक जैसा ही समझते हैं लेकिन चेक और डिमांड ड्राफ्ट (demand draft and cheque) में काफी अंतर होता है. जब आप डिमांड ड्राफ्ट बनवाते (demand draft procedure) हैं तो आपको उसमें पहले भुगतान करना होता है. यानि आपको पहले पैसे जमा करने होंगे. इसके बाद जहां आपने डिमांड ड्राफ्ट बनवाया (demand draft making)है वहां से आपको डिमांड ड्राफ्ट की रसीद दी जाएगी उसे आपको उस जगह भेजना होगा जिसके नाम पर आपने डिमांड ड्राफ्ट बनवाया है.

डिमांड ड्राफ्ट कैसे बनवाते हैं?

डिमांड ड्राफ्ट बनवाना (demand draft making process) काफी आसान काम है लेकिन इसे समझदारी के साथ करना जरूरी है क्योंकि आपकी छोटी सी लापरवाही आपका नुकसान कर सकती है. डिमांड ड्राफ्ट बनवाने का तरीका निम्न है.

– डिमांड ड्राफ्ट (demand draft) बनवाने के लिए आपको बैंक जाना पड़ता है. लेकिन आप जिसके लिए डीडी बनवा रहे हैं. उनसे पहले ये पता करें की उन्हें किस बैंक का डिमांड ड्राफ्ट चाहिए. कई बार कुछ संस्थान किसी विशेष बैंक के डिमांड ड्राफ्ट स्वीकार करते हैं. इसलिए उसी बैंक में जायें जहां के डिमांड ड्राफ्ट को संस्थान स्वीकार करे.

– डिमांड ड्राफ्ट के लिए बैंक में जाकर आपको डिमांड ड्राफ्ट का फॉर्म (demand draft form) भरना पड़ता है. डिमांड ड्राफ्ट के लिए बैंक जाते समय अपने साथ अपना पहचान पत्र, पैन कार्ड, और पते का प्रमाण पत्र साथ लेकर जायें.

– डिमांड ड्राफ्ट फॉर्म भरने के बाद आपको वहीं पर उस डिमांड ड्राफ्ट के पैसों का भुगतान करना होगा. इसके बदले में बैंक आपको एक स्लिप देगा जिसे आपको उस संस्थान को भेजना होगा जिसके नाम का आपने डिमांड ड्राफ्ट बनवाया है.

डिमांड ड्राफ्ट क्यों बनवाया जाता है?

आपने कई सारे फॉर्म भरते वक़्त देखा होगा की उसमें पेमेंट के लिए आपसे डिमांड ड्राफ्ट (demand draft) मांगा जाता है. दरअसल डिमांड ड्राफ्ट पेमेंट करने का एक सुरक्षित साधन होता है. अगर कोई भी व्यक्ति डिमांड ड्राफ्ट के माध्यम से किसी को पेमेंट करता है तो वो पेमेंट न मिलने या किसी और के अकाउंट में जाने की संभावना नहीं रहती है. कभी-कभी ऑनलाइन माध्यम में किसी और को पेमेंट चला जाता है. चेक देने पर चेक बाउंस हो जाता है इसलिए कई संस्थान सिर्फ डिमांड ड्राफ्ट ही स्वीकार करते हैं.

डिमांड ड्राफ्ट चार्ज

जब आप डिमांड ड्राफ्ट बनवाने जाते हैं तो आपको सिर्फ उतने पैसे नहीं देना है जितने का आपने डिमांड ड्राफ्ट बनवाया है बल्कि आपको उस पर शुल्क (demand draft charge) भी देना होता है. ये हर बैंक का अलग-अलग होता है. इसके अलावा आप जितने ज्यादा पैसों का डिमांड ड्राफ्ट बनवाएंगे शुल्क भी उतना ज्यादा ही लगेगा.

डिमांड ड्राफ्ट की वैधता

डिमांड ड्राफ्ट चेक की तरह होता है और इसकी भी वैधता होती है. वर्तमान जानकारी के अनुसार डिमांड ड्राफ्ट 3 महीनों के लिए वैध (demand draft validity) होता है. अगर सामने वाले ने आपका डिमांड ड्राफ्ट 3 महीने में नहीं निकाला है तो आप सिर्फ एक बार उसे और वैध करवा सकते हैं. आप चाहे तो अतिरिक्त शुल्क देकर इसे रद्द (demand draft cancellation) भी करवा सकते हैं.

यह भी पढ़े :

Bank open timing : बैंक खुलने का नया समय, एसबीआई के खुलने का नया समय

Kisan pension yojna : किसान पेंशन योजना आवेदन, प्रीमियम और लाभ

PMUY free gas connection : प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना की जानकारी, मुफ्त गैस कनेक्शन कैसे लें?

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!