Motor vehicle act : ट्रैफिक चालान से बचाने वाला ऐप, डिजिलॉकर के फायदे

1 सितंबर से देश भर में मोटर व्हीकल एक्ट (Motor vehicle act 2019) लागू हो गया. इसके लागू होते ही ट्रैफिक नियम का उल्लंघन करने पर लोगों को भारी जुर्माना (new traffic fine rule) भरना पड़ रहा है जिसे लेकर कई लोग गुस्सा ये हुए हैं. वैसे अगर आप इतना भारी जुर्माना नहीं भरना चाहते हैं तो आपके लिए सरकार ने एक नई सुविधा निकली है जिसके तहत आप जुर्माना भरने से बच सकते हैं और आपको सभी डॉकयुमेंट अपने साथ लेकर भी नहीं चलना पड़ेगा.

0 39

1 सितंबर से देश भर में मोटर व्हीकल एक्ट (Motor vehicle act 2019) लागू हो गया. इसके लागू होते ही ट्रैफिक नियम का उल्लंघन करने पर लोगों को भारी जुर्माना (new traffic fine rule) भरना पड़ रहा है जिसे लेकर कई लोग गुस्सा ये हुए हैं. वैसे अगर आप इतना भारी जुर्माना नहीं भरना चाहते हैं तो आपके लिए सरकार ने एक नई सुविधा निकली है जिसके तहत आप जुर्माना भरने से बच सकते हैं और आपको सभी डॉकयुमेंट अपने साथ लेकर भी नहीं चलना पड़ेगा.

अब सवाल ये आता है की बिना डॉकयुमेंट के ट्रैफिक पुलिस जरूर चालान (without document traffic challan) बनाएगी. दरअसल आपको अपने असली डॉकयुमेंट यानि आरसी, इन्स्योरेंस, लाइसेन्स (vehicle document) आदि के असली डॉकयुमेंट लेकर घूमना जरूरी नहीं है. इनके लिए आपका मोबाइल ही काफी है. आपको बस अपने मोबाइल में दो ऐप इन्स्टाल करना है और आप इन भारी चालान से बच सकते हैं.

सरकार द्वारा जारी इस सुविधा का लाभ आप तभी उठा सकते हैं जब आपके डॉकयुमेंट वास्तव में बने हो. जिन लोगों के लाइसेंस, इन्स्योरेंस नहीं है उन्हें इसका लाभ नहीं मिल पाएगा और पकड़े जाने पर उनसे भारी जुर्माना वसूला जाएगा. इसलिए ध्यान रखें की डॉकयुमेंट तो आपके पास सारे होना ही चाहिए. बस सुविधा ये है की आपको इन्हें लेकर घूमना नहीं है.

चालान से बचाने वाले ऐप

आजकल कई लोग ट्रैफिक पुलिस (new traffic rules) द्वारा पकड़े जाने पर बहाना बनाते हैं की उनके डॉकयुमेंट तो घर पर रह गए हैं. वो पर्स घर भूल गए हैं, लेकिन कोई भी व्यक्ति अपना मोबाइल नहीं भूलता. तो बस अब उसी मोबाइल से आप ट्रैफिक पुलिस के चालान से बच सकते हैं.

डिजिलॉकर और एम परिवहन

गूगल प्ले स्टोर (google play store) पर आपको ये दोनों ऐप आसानी से मिल जाएंगे. इन्हें आपको इन्स्टाल करना है और आगे चलकर ये आपकी मदद करेंगे. इन दोनों का काम थोड़ा अलग-अलग है इसलिए इन दोनों को ही इन्स्टाल करने की जरूरत आपको पड़ेगी. इन दोनों ऐप को सरकार ने मान्य कर रखा है इसलिए ये आपकी ट्रैफिक चालान से बचने में मदद भी करेंगे.

डिजिलॉकर

डिजिलॉकर (digi locker app) सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त एक ऑनलाइन लॉकर (online government locker) है जिसमें आप अपने सारे जरूरी डॉकयुमेंट को स्कैन करके सेव कर सकते हैं. आपसे जब भी किसी सरकार जगह डॉकयुमेंट की मांग की जाए तो आप इसमें मौजूद डॉकयुमेंट को बता सकते हैं या फिर उन्हें शेयर कर सकते हैं. वहाँ इसे मान्य किया जाएगा.

इसे उपयोग करने के लिए आपको सबसे पहले google play store से Digi locker app download करना होगा. इसके बाद आपको यहाँ signup करना होगा. यहाँ पर आप अपना मोबाइल नंबर डालकर signup कर सकते हैं. आपके मोबाइल पर एक OTP आएगा जिसके जरिये आपका मोबाइल नंबर भी वेरिफ़ाई हो जाएगा.

अगले चरण में आपको अपना यूजर आईडी और पासवर्ड सेट करना है. इसके बाद आपका digilocker account बन जाएगा. इसके बाद नियम के अनुसार आपको आधार नंबर को वेरिफ़ाई करना है. इसके लिए आपको अपना आधार नंबर डालना है फिर आपके आधार नंबर पर दर्ज आपके मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा उसे दर्ज करना है और फिर digilocker बनने की प्रक्रिया पूरी होगी.

इसके बाद तय नियम के तहत आपको अपने आधार नंबर को प्रमाणित करना होगा। इसके बाद आधार डेटाबेस में पूर्व में दर्ज मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा। इसके बाद ओटीपी को एंटर करने के बाद आधार प्रमाणित करने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। इसके बाद आपका डिजिलॉकर अकाउंट बन जाएगा। अब इसमें अपने आधार नंबर को प्रमाणित करिए.

डिजिलॉकर से लाभ

डिजिलॉकर को रखने का सबसे बड़ा लाभ (digi locker benefit) ये है की इसमें आप अपने सभी जरूरी डॉकयुमेंट रख सकते हैं. इसमें आप अपने गाड़ी के आरसी यानि रजिस्ट्रेशन, लाइसेन्स और इंश्योरेंस की कॉपी को download करके रख सकते हैं. ये हमेशा आपके साथ आपके मोबाइल में रहेंगे और आपको ये सब चीजें अपने पास रखें का झंझट नहीं रहेगा. इसके अलावा आपको कहीं पर भी जैसे ट्रैफिक पुलिस को ये कागजात बताना हो तो डिजिलॉकर की मदद से बता सकते हैं.

एम परिवहन

एम परिवहन (mParivahan app) एक ऐसा ऐप है जिसमें आपको ऑनलाइन अपना ड्राइविंग लाइसेन्स मिल जाता है. अगर आप अपना ड्राइविंग लाइसेन्स घर भूल जाते हैं तो आप एम परिवहन ऐप पर अपना लाइसेन्स दिखा सकते हैं. लेकिन इसके लिए आपको पहले से अपने स्मार्टफोन में एम परिवहन पर रजिस्टर होकर अपना लाइसेन्स download करना होगा.

एम परिवहन और डिजिलॉकर दोनों ही ऐसे ऐप हैं जिन्हें सरकार के द्वारा मान्य किया गया है और कहा गया है की इस पर दिखाये डॉकयुमेंट को असली माना जाएगा. आप कहीं पर भी अपने डॉकयुमेंट की जरूरत पड़ने पर आराम से डिजिलॉकर में रखें डॉकयुमेंट दिखा सकते हैं और चाहे तो इसकी कॉपी करके उन्हें दे सकते हैं.

यह भी पढ़ें :

मोटर वाहन अधिनियम (संशोधन) 2019, मोटर वाहन बिल के नए नियम और जुर्माना

LIC tech term policy : ऑनलाइन बीमा पॉलिसी, खुद के साथ परिवार की सुरक्षा

लोन के बाद एनओसी क्यों जरूरी है, NOC कैसे निकलवाएँ?

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!