Sawan Somvar 2022 : सावन सोमवार पर ऐसे करें भगवान शिव की पूजा, होगी हर मनोकामना पूरी

सावन माह के प्रत्येक सोमवार को यदि सही तरीके से भाग्वान शिव की पूजा की जाए तो वो आपको आपकी इच्छा के अनुसार फल देते हैं. इसके लिए आपको पता होना चाहिए कि सावन सोमवार की पूजा कैसे करें?

सावन का पूरा महीना भगवान शिव को समर्पित होता है. इस पूरे महीने में भगवान शिव की पूजा की जाती है उनकी विशेष आराधना की जाती है. शिवजी की पूजा को यदि विधि-विधान से किया जाए तो वे आपकी हर मनोकामना को पूरा करते हैं.

सावन के प्रत्येक सोमवार को धूमधाम से भगवान शिव की पूजा की जाती है. कई जगह पर इस दौरान बड़े आयोजन किए जाते हैं. कई श्रद्धालु अपने नजदीकी मंदिरों पर जाकर भगवान शिव की पूजा करते हैं और भगवान शिव को प्रसन्न करने की कोशिश करते हैं.

सावन माह के प्रत्येक सोमवार को यदि सही तरीके से भाग्वान शिव की पूजा की जाए तो वो आपको आपकी इच्छा के अनुसार फल देते हैं. इसके लिए आपको पता होना चाहिए कि सावन सोमवार की पूजा कैसे करें? शिवजी को क्या अर्पित करें? शिवजी की पूजा कैसे करें?

सावन सोमवार की पूजा कैसे करें?

सावन सोमवार की पूजा सावन माह के प्रत्येक सोमवार को की जाती है. साल 2023 में पहला सावन सोमवार 18 जुलाई को है और पूरे माह में 4 सावन सोमवार है. इस दौरान भाग्वान शिव की पूजा करने के लिए नीचे दी गई बातों का ध्यान रखें. 

– सावन सोमवार के दिन सूर्योदय से पहले उठें और शौच आदि से निवृत होकर स्नान करें.

– इसके बाद पूरे घर में गंगा जल का छिड़काव करें. 

– पूजा करने के लिए हरे, केसरिया, पीला, लाल या सफ़ेद रंग का वस्त्र धारण करें.

– भाग्वान शिव के साथ माँ पार्वती जी को पुष्प, धूप, दीप तथा प्रसाद अर्पित करें. 

– शिवलिंग पर बेलपत्र, जल और दूध का अभिषेक करें. 

– शिवजी का ध्यान करते हुए उनकी पूजा करें.

– यदि आपने व्रत किया है तो आप पूजा वाले दिन महामृत्युंजय मंत्र का जाप 108 बार करें. ये आपको सभी रोगों से मुक्ति दिलाता है. 

– सोमवार के दिन आप 108 बार शिवजी का ध्यान करते हुए ॐ नमः शिवाय मंत्र का जाप भी कर सकते हैं. इससे मानसिक तनाव दूर होता है. 

– व्रत के दौरान केवल एक बार भोजन करें. पूरे व्रत में अन्न और नमक का सेवन न करें. 

>> सावन सोमवार में करें इन मंत्रों का जाप, शिवजी चमकाएंगे आपका भाग्य

सावन सोमवार में नैवेद्य क्या चढ़ाएं?

सावन सोमवार के दौरान लोग अलग-अलग तरह के नैवेद्य भगवान शिव को अर्पित करते हैं. इस दौरान आप भगवान शिव को शक्कर, सफ़ेद मिठाई, दही, घी, गन्ने का रस, शहद आदि अर्पित कर सकते हैं. 

सावन के प्रत्येक सोमवार को आपको शिवलिंग पर दूध और जल का मिश्रण अर्पित करना चाहिए तथा शिव मंत्रों का जाप करना चाहिए. ऐसा करने से आपके सभी पापों और दोष का नाश होता है. 

शिवजी को क्या अर्पित करें?

सावन सोमवार की पूजा के दौरान शिवजी को निम्न वस्तुएँ अर्पित कर सकते हैं. 

– भगवान शिव को अप कच्चे चावल अर्पित कर सकते हैं. ऐसा करने से पापों से मुक्ति मिलती है.ध्यान रहे चावल सबूत हो, टूटे हुए न हो. 

– पौराणिक कथाओं के अनुसार शिवलिंग पर आप बेलपत्र, धतूरा, सफ़ेद फूल, गुलाब के फूल, भांग आदि चढ़ा सकते हैं.

– भगवान शिव के अभिषेक के लिए दूध और जल का उपयोग करना चाहिए. 

– भगवान शिव को आप सफ़ेद फूल अर्पित कर सकते हैं. इनमें मोगरा, आक के फूल, कनेर, बेला, गुलाब के फूल आदि शामिल है. 

– भगवान शिव को पूजा के दौरान बिल्व पत्र जरूर अर्पित करना चाहिए. ये उन्हें बेहद प्रिय है. 

>> सावन माह में भूलकर भी न करें इन चीजों का सेवन

शिवजी को क्या समर्पित नहीं करना चाहिए? 

सावन सोमवार हो या फिर कोई और दिन शिवजी को पूजा में कुछ चीजे कभी भी अर्पित नहीं करना चाहिए. ऐसा करने से वे नाराज हो जाते हैं.

– शिवजी को कभी भी केवड़े का फूल अर्पित नहीं करना चाहिए.

– शिवजी को केतकी का फूल भी अर्पित नहीं करना चाहिए.

– शिवजी को हल्दी नहीं अर्पित करनी चाहिए.

– शिवजी को शंख से जल अर्पित नहीं करना चाहिए.

– शिवजी को नारियल का पानी अर्पित नहीं करना चाहिए.

– शिवजी को कभी भी तुलसी के पत्ते अर्पित नहीं करना चाहिए. 

– शिवजी की पूजा में कभी भी काले रंग के कपड़े नहीं पहनना चाहिए. 

सावन सोमवार की पूजा करते समय माँ पार्वती की पूजा भी साथ करें तभी आपको इस पूजा का सम्पूर्ण फल मिलेगा. आप सच्चे मन से बिना किसी स्वार्थ के भगवान शिव और माँ पार्वती की पूजा करें. शिव-शंभू आपकी हर मनोकामना को पूर्ण करेंगे. 

यह भी पढ़ें :

Sawan Upay 2022 : सावन के महीने में करें ये उपाय, बरसेगी महादेव की कृपा

Sawan Somvar Vrat katha : सावन में पढ़ें सोमवार व्रत कथा, शिवजी करेंगे हर मनोकामना पूरी!

Sawan Somvar 2022: सावन सोमवार कब से शुरू हो रहे हैं, सावन शिवरात्रि कब रहेगी?

error: Content is protected !!